ताज़ा खबर
 

चलन में रंगीन केश विन्यास

आजकल बालों को विभिन्न रंगों में रंगना फैशन बन चुका है। अब हर उम्र की महिलाएं नया अंदाज पाने के लिए अपने केशों को लेकर तरह-तरह के प्रयोग करती हैं।
Author July 30, 2017 00:50 am

इन दिनों बालों में अलग-अलग ढंग और रंग के रंग लगाना फैशन में है। खासकर युवा पीढ़ी में केश विन्यास और रंगों के चुनाव को लेकर दीवानगी है। माना जाता है कि केश विन्यास और उनमें रंगों के चुनाव से व्यक्तित्व को नया निखार दिया जा सकता है। इसलिए हर उम्र की महिलाएं बालों को लाल, सुनहले, रुपहले, हरे आदि रंगों में रंगती देखी जाती हैं। केश सज्जा के मामले में किस प्रकार की सावधानियां बरती जानी चाहिए और किस प्रकार के रंगों का चुनाव करना चाहिए, बता रही हैं सुमन बाजपेयी। 

आजकल बालों को विभिन्न रंगों में रंगना फैशन बन चुका है। अब हर उम्र की महिलाएं नया अंदाज पाने के लिए अपने केशों को लेकर तरह-तरह के प्रयोग करती हैं। केश विशेषज्ञ महुआ राव के अनुसार, जब भी बालों में रंग करवाएं तो अपने व्यक्तित्व और पेशे का ध्यान जरूर रखें। अगर आप कॉरपोरेट जगत में काम करती हैं, तो भड़कीले रंग कराने से बचें, क्योंकि ये आपके व्यक्तित्व से मेल नहीं खाएंगे। आपको किसी हल्के रंग का चुनाव करना चाहिए।
अगर आप रंग के लिए मेहंदी का इस्तेमाल करती हैं, तो बालों में उसकी परत चढ़ जाती है, जिसके चलते रंग का सही परिणाम नहीं मिलता। अगर आपके बाल मेहंदी की परत वाले हैं, तो मोहगनी रेड आजमा सकती हैं। रंग बालों के अंदर जाकर पिगमेंट बदलाव करता है, जबकि मेहंदी से कोटिंग होती है, जिसकी वजह से बाल गिरने भी लगते हैं।

चलन में रंग

मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट और गोदरेज प्रोफेशनल कंसल्टेंट आशा हरिहरन का कहना है कि इस साल एश, कैंडी, ब्राउन के विभिन्न शेड्स चलन में रहेंगे। ब्राउन के साथ महोगनी, कॉफी भी इस्तेमाल किए जाएंगे। इसके अलावा सबसे नया चलन है सिल्वर रंग का। जिस तरह पहले ब्रांज रंग का फैशन था, वैसे ही सिल्वर रंग के प्रति इस समय किशोरों में आकर्षण बढ़ रहा है। क्योंकि सिल्वर शुद्धता, एलीगेंस और ज्ञान का प्रतीक माना जाता है। इस समय काले रंग को पसंद नहीं किया जा रहा है, बल्कि रंगों का तालमेल बहुत पसंद किया जा रहा है। हाईलाइट्स का चलन बरकरार रहेगा। केश विन्यास में इस समय अनगढ़पन चलन में है, लेकिन उसके लिए एक शिल्प की जरूरत होती है।
इन दिनों महिलाओं को पर्पल, आॅरेंज, लाल रंग आकर्षित कर रहे हैं। मगर इन रंगों को पूरे बालों में लगाने के बजाय केवल हाईलाइट या स्ट्रिक्स कराएं। भारतीय त्वचा पर इन रंगों के हाईलाइट आकर्षक लगते हैं। इन दिनों सुनहरा रंग भी फैशन में है। मगर यह सांवली महिलाओं पर अच्छा नहीं लगता, इसलिए इसे कराने की भूल न करें। अगर आपका रंग गेहुंआ या गोरा है, तो आप पर अच्छा लगेगा। ब्राउन और बरगंडी नैसर्गिक रंगों की श्रेणी में आते हैं और अधिकतर महिलाओं पर अच्छे लगते हैं। रोज गोल्ड रंग इंस्टाग्राम पर छाया हुआ है। यह आपके पूरे व्यक्तित्व को निखारता है। यहां तक कि तब भी जब आपने कोई मेकअप न किया हो, बहुत अच्छा लगता है।
ओंब्रे रंग का चलन इस समय बहुत लोकप्रिय है। बालों के आधे हिस्से को अलग रंग से रंगने को ओंब्रे कहा जाता है। यह आजकल के कॉलेज जाने वाली से लेकर आॅफिस जाने वाली लड़कियों के बीच काफी प्रचलित है। ओंब्रें स्टाइल में बालों का एक हिस्सा ब्लीच किया जाता है, जिससे बालों को दो रंगों में रंग किया जा सके। एक गहरे रंग में और एक हल्के रंग में। ओंब्रे के लिए प्राकृतिक रंगों का चुनाव करना ही बेहतर होता है, इससे बाल ज्यादा खूबसूरत लगते हैं। आमतौर पर लोग हल्के भूरे या सुनहरे रंग ज्यादा पसंद करते हैं। कोई ऐसा रंग चुनें, जो अपने बालों के रंग के दोगुने से ज्यादा हल्का न हो। चुने गए रंग और बालों के असली रंग में जितना कम अंतर होगा, बाल उतने ही प्राकृतिक दिखेंगे।
आप चाहें तो बालों के सिरे पर गहरा रंग और जड़ों में हल्का रंग लगा सकती हैं। हालांकि पारंपरिक चलन के अनुसार बालों के सिरे जड़ की तुलना में हल्के रंगे होते हैं। बालों को ब्लीच करने के लिए उन्हें चार हिस्सों में बांटा जाता है। बाल के जिस भाग से ओंब्रे की शुरुआत की जाती है, उस भाग को कंघे से सुलझाया जाता है। बालों पर ब्लीच लगा कर उसे थोड़ी देर के लिए छोड़ दिया जाता है। उसके बाद शैंपू कर धो दिया जाता है, ताकि ब्लीच पूरी तरह निकल जाए। वरना यह आपके रंग को ठीक से चढ़ने नहीं देगा।
आजकल जीओड हेयर रंग भी चलन में है। जीओड ऐसे पत्थरों को कहा जाता है, जिनमें छेद कर क्रिस्टल लगा कर खूबसूरत लुक दिया जाता है। इस हेयर ट्रेंड को देख कर आपको कुछ ऐसा ही नजर आएगा। शिमरी लुक देने वाला यह हेयर ट्रेंड आपको चमकीले पत्थर की याद दिलाएगा।

त्वचा के अनुसार रंग

अगर आपकी त्वचा का रंग गहरा है, तो आपके ऊपर गहरे रंग के हेयर कलर्स अच्छे लगेंगे। डस्की स्किन वाली लड़कियों को कभी खुद से लाइटर शेड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि वह उन पर बिल्कुल नहीं फबेगा। चॉकेलट ब्राउन रंग ज्यादातर मध्यम आॅलिव स्किन और डस्की स्किन टोन वालों पर अच्छा लगता है। यह रंग हेजल और ब्राउन आंखों वाली लड़कियों पर काफी अच्छा लगता है। आप चाहें तो ब्राउन स्ट्रीक्स भी करवा सकती हैं।
लाल रंग का मेल वाला महोगनी रंग डस्की त्वचा पर काफी अच्छा लगता है। अपने बालों को पूरा गोल्डन टच देने से बचें। रेड महोगनी आपके बालों को हॉट लुक दे सकता है। यह काफी एशियन महिलाओं द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला रंग है। रिच ऐंड डार्क रंग के मेल का एस्प्रेसो बालों का रंग ज्यादातर आॅलिव और गहरी त्वचा वालों को सूट करता है। गहरे रंग की त्वचा, जिसकी आंखों का रंग कुछ भी हो, उस पर यह एस्प्रेसो हेयर रंग काफी सूट करेगा। यह रंग गोरी त्वचा वाली लड़कियों पर नहीं फबेगा। गहरी त्वचा की महिलाओं को ब्रुनेट हेयर रंग सूट करता है।
त्वचा का रंग गहरा है, तो चॉकलेट कैरेमल टोन अच्छा लगेगा, लेकिन ब्लौंड टोन करवाने से बचें। इससे आपका रंग और ज्यादा गहरा लगने लगेगा। अगर आपका रंग गोरा है, तो गहरा ब्लौंड आप पर खूब फबेगा। अगर आप गोरी हैं तो कोई भी हेयर रंग अच्छा लगेगा। आप किसी भी तरह के शेड का प्रयोग कर सकती हैं। ब्लॉड या फिर चॉकलेट टोन आजमा सकती हैं। अगर कांप्लेक्शन डार्क है तो ब्लैक या डार्क रंग का प्रयोग न करें, आप हल्के रंग चुनें, जैसे लाइट ब्राउन आदि।
पहनावे के अनुसार बालों का रंग

आशा हरिहरन मानती हैं कि अगर आप लाल, आरेंज, सुनहरा पीला या आॅलिव ग्रीन रंग के कपड़े पहनना पसंद करती हैं, तो आप पर गोल्डन ब्लौंड, गोल्डन ब्राउन, स्ट्राबेरी ब्लौंड रंग वाले केश रंग फबेंगे। आप नीला लाल, रॉयल ब्लू, ब्लैक और पाइन ग्रीन रंग के कपड़े ज्यादा पहनती हैं तो कूल टाइप का केश रंग इस्तेमाल करें जैसे प्लैटिनम, एश ब्लौंड, एश ब्राउन, बर्गंडी और जेट ब्लैक हेयर रंग आदि। अगर आप लाल और वॉयलेट रंग की पोशाक पहनती हैं तो सैंडी ब्लौंड, बीज ब्लौंड और चॉकलेट ब्राउन जैसा हेयर रंग अच्छा लगेगा।

इन बातों का रखें ध्यान

पूरे बालों में रंग करने से पहले थोड़े से बालों में पैच टेस्ट जरूर करें, ताकि अगर आपको रंग सूट न करे, तो पता चल जाए।
कभी भी दो अलग-अलग प्रोडक्ट को न मिलाएं, जैसे आपके पास किसी दूसरे ब्रांड का डिवेलपर बचा हुआ है, तो उसे किसी दूसरे ब्रांड के रंग के साथ न मिलाएं। जिस ब्रांड का रंग इस्तेमाल कर रही हैं, डिवेलपर भी उसी ब्रांड का चुनें।
रंग कभी बालों की जड़ से लगाना शुरू न करें। पहले जड़ों से दो इंच छोड़ कर पूरे बालों में लगाएं। फिर पंद्रह मिनट के बाद जड़ों में लगाएं, क्योंकि जड़ों में पहले लगाने से गरमी की वजह से उन पर रंग का असर जल्दी होता है। रंग करते समय सैक्शनिंग जरूर करें। अगर बिना सैक्शनिंग के लगाती हैं, तो कहीं पर रंग अच्छी तरह चढ़ता तो कहीं नहीं। सैक्शनिंग करने से हर सैक्शन कवर होता है। ०

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.