ताज़ा खबर
 

बाखबर: जैसी आपकी मर्जी महाराज!

जनता से कनेक्शन है तो मोदी जी का है, किसी और का तो दूर-दूर नहीं है... वे गुजराती प्राइड के प्रतीक हैं... बीजपी की विनिंग मशीन मोदी... सुनामो स्वीप्स गुजरात... चुनाव महीनों दूर, लेकिन सुपर अभियान शुरू!
Author April 23, 2017 05:26 am
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (PTI)

यूपी के सीएम जी का आदेश रहा कि महापुरुषों के जन्मदिन या स्मृति दिवसों पर छुट्टी नहीं होगी, ऐसे दिन उनके गुणों का गुणानुवाद किया करें!  जैसी आपकी आज्ञा महाराज! उत्तराखंड में रहना होगा तो वंदेमातरम् कहना होगा। मैं उत्तराखंड के चीफ मिनिस्टर को चैलेंज करता हूं कि मैं नहीं गाता वंदेमातरम्, मुझे उत्तराखंड से बाहर निकाल कर दिखा दो।
जैसी आपकी मर्जी महाराज!  एक सीआरपीएफ जवान को कई युवा धौल-चपत करते हुए वह खामोशी से सब सहता हुआ… रिपीट दर रिपीट सीन।  एक जीप जिसके आगे एक कश्मीरी युवा बंधा हुआ… रिपीट दर रिपीट सीन… सीन की व्यख्या करें उमर अब्दुल्ला… कश्मीर में जो न हो जाए वही थोड़ा महाराज! सर्वाेत्तम हैं मोदी जी! ऐसा लोकलुभावन रोड शो देते हैं मोदीजी कि बड़े से बड़ा हीरो भी किनारे हो जाय! भुवनेश्वर में मोदी जी का रोड शो, फिर भाजपा कार्यकारिणी में संबोधन शो, फिर लिंगराज मदिर में दर्शन शो, फिर सूरत में ग्यारह किलोमीटर लंबा रोड शो। चालीस हजार मोटर साइकिल सवार, छह सौ कटआउट, इतने होलोग्राम चित्र, तीस फीट ऊंची एक प्रतिमा… इस शोभा का वर्णन कहां तक करें एंकर-रिपोर्टर? तब भी विशेष व्याख्याकार व्याख्या में जमे कि शो ने गुजरात के चुनाव का बिगुल बजा दिया है… जनता से कनेक्शन है तो मोदी जी का है, किसी और का तो दूर-दूर नहीं है… वे गुजराती प्राइड के प्रतीक हैं… बीजपी की विनिंग मशीन मोदी… सुनामो स्वीप्स गुजरात… चुनाव महीनों दूर, लेकिन सुपर अभियान शुरू!

इस सीन में स्नैपचैट वाले की शायद मुसीबत आई थी, जो कह बैठा कि भारत बहुत गरीब कि स्नैप चैट का बोझ नहीं सह सकता! हमारे चैनलों के वीर एंकरों और बुद्धिचरों ने स्नैप चैट के स्पीगलर को वो लताड़ पिलाई कि बच्चू के होश ठिकाने आ गए। हमें गरीब कहने वाले! गरीब होगा तू और तेरा बाप!
डीएमके के स्टालिन साहब की लाइन एक अंगरेजी चैनल में गंूजी कि सरकार हिंदी लाद रही है। यह तमिल पहचान के लिए खतरा है। एक अंगरेजी चैनल इस खबर से दुबला हुआ जाता था कि राजभाषा समिति ने सिफारिश की है कि हिंदी जानने वाले राष्ट्रपति और अन्य महानुभाव हिंदी में भाषण दिया करें… चैनल ने लाइन मारी ‘पुश फॉर हिंदी: भाषाई अंधराष्ट्रवाद!’
हाय! हिंदी हो तो अंधराष्ट्रवाद और अंगरेजी हो तो चश्मिश अंतरराष्ट्रवाद! एक कारपोरेटिया सज्जन उवाचे कि हिंदी को न थोपें, नहीं तो यह राष्ट्र के लिए खतरनाक होगा!
जैसी आपकी मर्जी महाराज!
बेरोजगार हों, मार्केट से आउट हों, कोई पूछता न हो तो सोनू भइया से खबर में आना सीखें। कहें कि सुबह लाउड स्पीकर से गूंजती अजान उनकी नींद को डिस्टर्ब करती है। यह एक प्रकार की ‘जबर्दस्ती की धार्मिकता’ है… यह ‘गुंडागर्दी’ है।
उदारमना चैनलों में बकवास के लिए उधार बैठे बुद्धिचरों को अचानक अपनी भूमिका नसीब हुई कि सोनू का कथन सही कि गलत? चैनल-चैनल सोेनू ही सोनू कि हठात एक भाई ने कहा कि इसके सिर को गंजा करने वाले को दस लाख का इनाम दिया जाएगा। लीजिए, अगले ही पल सोनू जी ने अपना सिर गंजा-सा कर लिया, अब लाइए इनाम… ऐसी अश्लीलता या मन की महाराज!
गंजत्व पर दस लाख का इनाम देने का एलान करने वाले को जब एक परम राष्ट्रवादी चैनल ने अपने स्टूडियो में बुलाया, तो एंकर ने सोनू के गंजे किए सिर को दिखा कर कहा कि ये लीजिए मुंडा हुआ सिर, अब दीजिए दस लाख इनाम। क्या लाए हैं यहां देने के लिए दस लाख? बेशर्मी की हद नहीं बची है सर जी!
जैसी आपकी आज्ञा महाराज!

एक नैतिक किस्म की खबर आइआइटी दिल्ली ने भी बनाई और चर्चा में आ गई। नैतिक दारोगाई से नाराज रहने वाले एंकर ने आइआइटी हॉस्टल का नोटिस हाथ में लेकर इस ‘मिसोजिनी’ पर सवाल उठाए और बुद्धिचरों को जुटाने लगा, फिर कहने लगा कि अभी तक इस नोटिस का कनफर्मेशन नहीं हुआ है। जब पक्का पता नहीं, तो काहे हल्ला करते हो जी! आइआइटी ने भी कहा, मालूम नहीं कि नोटिस किसने लगाया? ये कैसी आइआइटी है कि नोटिस लग जाता है, लेकिन लगाने वाला कौन है, यह कभी मालूम नहीं पड़ता!
फिर एक दिन संस्कारी सेंसर जी ने दो ‘महिलावादी’ फिल्मों के दो-चार दिन चलने का इंतजाम कर दिया, यानी उनको कूटकाट दिया और कह दिया कि ये फिल्में नहीं दिखाई जा सकतीं, क्योंकि राष्ट्र की नैतिकता के लिए खतरनाक हैं! उम्मीद है कि अब उनकी लागत निकल आएगी!  तभी बाबरी मस्जिद के ध्वंस की याद दिलाने वाला पच्चीस साल पुराना प्रेत जाग गया: सुप्रीम कोर्ट के आदेश की मार्फत बड़ी खबर आई कि आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत अन्य कई नेताओं पर केस चलेगा! दो साल में अदालत फैसला देगी। ऐसे में कई एंकरों को सेक्युलर होने का अवसर मिला। वे सीधे विनय कटियार साहब के पास पहुंचे कि क्या कहना है सर जी? वे बोले कि सीबीआई ने जानबूझ कर फंसाने का काम किया है, सारे आरोप बेबुनियाद हैं…

राजदीप ने अपने चैनल पर फैसले के फलागम पर इस तरह विचार किया कि इसका सीधा असर उमा भारती के मंत्रित्व पर पड़ेगा। आडवाणी जोशी की राष्टÑपति के पद की दौड़ खत्म हुई। दो साल तक सुनवाई होगी। इस बीच हिंदुत्व का मुद्दा तना रहेगा! एक चैनल पर संघ के विचारक बोले कि साजिश का आरोप निराधार है। यह हिंदू विक्षोभ था। केस को ड्राप किया जाना चाहिए! आखिर में बोलीं उमा भारती जी कि कोई साजिश नहीं थी, सब कुछ खुल्लम खुल्ला था। वही मन वचन कर्म में था। मुझे गर्व है… भव्य राम मंदिर बनाने का वक्त आ गया है।… अयोध्या जा रही हूं। रामलला के, हनुमान जी के दर्शन करूंगी।…ज्यों ही कैबिनेट ने लालबत्ती कल्चर को खत्म करने का ऐलान किया, त्यों ही कई एंकरों को समाजवाद आता लगा। इस पर भी कई एंकर बहस कराने लगे कि कैसा लगा यह ऐलान? ऐसे अवसर पर आप पार्टी की एक प्रवक्ता ने सीधे कहा कि वीआइपी कल्चर खत्म हो, अच्छा है लेकिन फिर पीएम दिन में चार बार ड्रेस क्यों बदलते हैं? क्या यह वीआइपी कल्चर नहीं है?
लेकिन हम तो कहेंगे जैसी आपकी मर्जी महाराज!

 

 

सिविल सर्विस डे पर पीएम मोदी बोले- "गुणात्मक परिवर्तिन के लिए, समय के साथ काम में सुधार करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग