December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

रॉक ऑन-2 रिव्यू: प्रोड्यूसर, डॉयलॉग राइटर, सिंगर, एक्टर, सभी जिम्मेदारियों में उलझे फरहान, पीछे छूट गई फिल्म

Rock on 2 Movie Review:शंकर एहसान लॉय का म्यूजिक परफेक्ट है और फिल्म के मूड से मिलता है। फिल्म का बैग्राउंड म्यूजिक शानदार है और एडिटिंग काफी शार्प और क्रिस्पी है।

रॉक ऑन-2 मूवी कास्ट:श्रद्धा कपूर, फरहान अख्तर, अर्जुन रामपाल, पूरब कोहली, शशांका अरोड़ा और प्राची देसाई

रॉक ऑन-2 मूवी डायरेक्टर:शुजात सौदागर

आज के आठ साल पहले यानी 2008 में जब रॉक ऑन फिल्म आई थी तो मैजिक नाम के एक ऐसे म्यूजिकल ग्रूप के सदस्यों की दोस्ती पर आधारित थी जिसमें संगीत के लिए जज्बा था। अब जब रॉक ऑन 2′ आई है तो दोस्ती और संगीत का जज्बा तो बरकरार है लेकिन फिल्म की कहानी में केमिकल लोचा पड़ गया है और इसी कारण इसमें वो जादू नहीं है जो इस कड़ी की पहली फिल्म यानी रॉक ऑन में था। इसकी कई वजहें हो सकती हैं लेकिन शायद सबसे बड़ी वजह खुद फरहान अख्तर हैं। वे इस फिल्म के निर्माता भी हैं, हीरो भी, संवाद लेखक भी और गायक भी। गाने अलबत्ता उन्होंने अपने पिता जावेद अख्तर को लिखने दिए हैं। आखिर पिता के लिए भी पुत्र का कोई धर्म होता है, वरना जो संवाद लिख सकता है वो गाने भी क्यों नहीं लिख सकता? आखिर गीतकार बनने के पहले जावेद भी संवाद लेखक ही थे। इसलिए फरहान की ख्वाहिशें इतनी अधिक हैं तो क्या आश्चर्य? फिल्म में सबसे ज्यादा दृश्यों में भी वही हैं। वैसे अपनी फिल्मों में सलमान खान भी सबसे ज्यादा दृश्यों होते हैं लेकिन वे कम से कम गायकी और संवाद लेखन में हाथ नहीं आजमाते। फरहान शायद उनको भी मात करना चाहते हैं। उनको शुभकामनाएं। एक बात और। चकित मत होइएगा। रॉक ऑन 2 में सिर्फ संगीत नहीं है बल्कि किसान भी हैं। जी हां, रॉक ऑन 2 का आदि यानी आदित्य श्रॉफ ( फरहान) एक हादसे के लिए खुद को दोषी मानने के बाद मेघालय चला गया और संगीत पर नहीं बल्कि मेघालय के किसानों की खुशहाली पर ध्यान देने मे लगा है। उसने किसानों के लिए एक सहकारी समिति भी बना ली है। हां, उसकी बीवी (प्राची देसाई) और बच्चे मुंबई में रहते हैं। उसके मैजिक बैंड का पुराना दोस्त जो यानी जोसेफ ( अर्जुन रामपाल) अब एक पब का मालिक और रिएलिटी शो में जज की भूमिका निभाता है। दूसरा दोस्त केडी (पूरब कोहली) अभी भी संगीत में लगा है। उधर जिया (श्रद्धा कपूर) नाम की एक लड़की है जो बहुत अच्छा गाती है और संगीत की दीवानी है। लेकिन अपने शास्त्रीयसंगीत प्रेमी पिता के भय से सार्वजनिक जगहों पर गा नहीं पाती है। उसके पिता को लगता है कि आजकल का सगीत पश्चिम से प्रेरित है और भारतीय संगीत को खराब कर रहा है। क्या जिया कभी सार्वजनिक जगहों पर आधुनिक संगीत गा पाएगी? लेकिन इसके लिए आदि को आगे आना होगा और अपने पुराने दोस्तों को फिर से जोड़ना पड़ेगा। फिर किसानों क्या होगा? भाई फरहान अख्तर नाम का शख्स दोनों का कल्याण का क्यों नहीं कर पाएगा? उसे मेघालय और मुंबई – दोनों जगहों पर अपने जलवे दिखाने होंगे। भले ही मेघालय सरकार के अधिकारी उसकी राह में अवरोध खड़ा करें लेकिन वो संगीत के एक शो से किसानों का भी भला करेगा और अपने ग्रूप का भी।

फिल्म खेती और संगीत के बीच फंस के रह गई है और साथ ही फरहान अख्तर की आत्ममुग्धता का शिकार बन गई है। अगर श्रद्धा कपूर के चरित्र पर कहानी का जोर थोड़ा अधिक होता तो फिल्म और बेहतर हो सकती थी क्योंकि दो पीढियों का संघर्ष सामने आता। पर ऐसे में फरहान अख्तर पर से फोकस हट जाता और? ये उनको गवारा कैसे होता? और अगर उन्होंने खुद गाने न गाए होते और किसी प्लेबैक सिंगर को रखा होता तब भी अच्छे गाने के लिए इसे याद रखा जाता। फिल्म का संगीत शंकर-एहसान-लाय का है लेकिन संगीतकार क्या करें अगर गायक सधे हुए सुरों का न हो। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी बहुत अच्छी है पर निर्देशन उतना ही कमजोर। श्रद्धा कपूर अवश्य बेहतर और प्रभावशाली लगीं है। हालांकि उनके दृश्य भी कम ही है। प्राची देसाई के पास कुछ खास करने के लिए नहीं है। अर्जुन रामपाल वैसे भी फिल्मी दुनिया में सिकुड़ते जा रहे है। यहां भी वही स्थिति है।

मूवी रिव्यू: ‘रॉक ऑन’ जैसा जादू नहीं चला पाई ‘रॉक ऑन 2’

 

एक यूजर ने इसे नेगेटिव रिव्यू दिया है तो वहीं एक ट्विटर यूजर का कहना है कि फिल्म रिश्तों पर आधारित है और हम सभी जानते हैं कि रिश्ते कॉम्पलिकेटेड और उलझे हुए होते हैं। रॉक ऑन 2 में इन सभी चीजों को बेहतरीन ढंग से पेश किया गया है। शंकर एहसान लॉय का म्यूजिक परफेक्ट है और फिल्म के मूड से मिलता है। फिल्म का बैग्राउंड म्यूजिक शानदार है और एडिटिंग काफी शार्प और क्रिस्पी है। फरहान अख्तर की परफॉर्मेंस सभी कलाकारों को ढक रही है। वहीं श्रद्धा ने भी अच्छा परफॉर्म किया है। प्राची देसाई को बड़े पर्दे पर देख कर अच्छा लग रहा है। उनकी वजह से पर्दे पर एक फ्रेशनेस आई है। थिएटर से बाहर आते ज्यादातर लोग फिल्म से खुश नजर आए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 10:35 am

सबरंग