April 29, 2017

ताज़ा खबर

 

जानिए, आपके हाथ में कौनसी रेखाएं होने पर होता है प्रेम विवाह का योग

हस्त रेखा विशेषज्ञों के अनुसार जिन लोगों के प्रेम विवाह होने की संभावना होती है। उनकी हथेली में शुक्र, बृहस्पति और मंगल के स्थान को बहुत प्रभावी माना जाता है।

हिंदू धर्म में विवाह को सात जन्मों का रिश्ता माना जाता है। कई लोग प्रेम विवाह करते हैं तो वहीं कई लोग अपने घर वालों की सलाह से शादी करते हैं। कई हस्त रेखा विशेषज्ञों के अनुसार आपके हाथ की रेखाओं को देखकर बताया जा सकता है कि आप प्रेम विवाह करेंगे या अपने घर वालों की सलाह पर विवाह करेंगे। आज हम आपको बताएंगे कि आपके हाथ की कौनसी रेखा आपके विवाह के बारे में बताती और कौनसी रेखा आपके प्रेम विवाह की ओर इशारा करती है।

हस्त रेखा विशेषज्ञों के अनुसार जिन लोगों के प्रेम विवाह होने की संभावना होती है। उनकी हथेली में शुक्र, बृहस्पति और मंगल के स्थान को बहुत प्रभावी माना जाता है।

अगर किसी व्यक्ति का प्रेम विवाह होना होता है तो इसके बारे हाथेली पर बुध पर्वत की रेखा से पता चल जाता है। बुध पर्वत की रेखा से अगर प्रेम विवाह का पता नहीं चल पाता तो कई हस्त रेखा विशेषज्ञ बृहस्पति और शुक्र को देखा जाता है इसके प्रेमिका के स्वभाव के बारे में पता चलता है।

हमारे हाथ की रेखाओं से इस बात का भी पता किया जा सकता है कि अगर विवाह की रेखा अन्य रेखाओं की तुलना में ज्यादा बड़ी हो या ज्यादा छोटी है तो ये इस बात की ओर इशारा करता है कि आपका अंतरजातीय विवाह हो सकता है। कुछ हस्त रेखा विशेषज्ञ इसको अमीर या गरीब परिवार में शादी होने को भी मानते हैं।

अगर आपकी हथेली में मौजूद बृहस्पति पर्वत शनि की ओर झुकाव रखता है तो मतलब है कि आपकी शादी 30 साल की उम्र के बाद होगी।

हस्त रेखा विशेषज्ञ मानते हैं कि जब किसी पुरुष की हथेली में विवाह की रेखा हृदय रेखा से काफी दूर होती है और बृहस्पति के स्थान पर कोई चिह्न ना दिखाई दे तो इसका मतलब है कि शादी देरी से होगी।
कई बार देखा गया है कि कई लोगों के हाथ में विवाह की रेखा नहीं होती है तो इसका मतलब ये नहीं है कि आपका विवाह नहीं होगा। हो सकता है कि आपके विवाह में कुछ देरी हो जाए। ज्योतिषी शास्त्र में कई उपाय हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 12:45 pm

  1. No Comments.

सबरंग