ताज़ा खबर
 

सावन के महीने में महिलाएं क्यों पहनती हैं हरी चूड़ियां

हरे रंग को उपचार का रंग भी माना जाता है। हरा रंग हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट की कई बीमारियों के लिए अच्छा माना जाता है।
हरी चूड़ियां (सांकेतिक फोटो)

10 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो गया है। सावन के महीने में खूब बारिश होती है। बारिश के कारण पेड़-पौधे भी हरे-भरे हो जाते हैं। प्रकृति के इस बदलते रंग के साथ-साथ महिलाओं का श्रृंगार भी बदल जाता है। इस महीने में महिलाएं हरे रंग के वस्त्र और हरे रंग की चूड़ियां पहनती हैं। कई ज्योतिषियों का कहना है कि इस महीने में हरे रंग के कपड़े पहनने से भाग्य प्रभावित होता है। इस महीने में हरे रंग के कपड़े पहनने से सोया हुआ भाग्य जाग जाता है। हरे रंग को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। सावन के महीने में हरे रंग के वस्त्र और हरे रंग की चूड़ियों को पहनने का नियम प्राचीनकाल से चला आ रहा है। माना जाता है कि ऐसा करने से सौभाग्य में वृद्धि होती है।

माना जाता है कि जो लोग सावन के महीने में हरे रंग के कपड़े पहनते हैं, उनसे भोले बाबा खुश होते हैं। वहीं सावन के महीने में हरे रंग की चूड़ियां पहनने वाली महिलाओं पर भगवान विष्णु की कृपा बरसती है। कुछ ज्योतिषियों का मानना है कि हरा रंग प्रकृति से जुड़ा हुआ है, जिसके कारण इसका सीधा असर आपके भाग्य पर पड़ता है। सावन के महीने में महिलाओं का हरा रंग धारण करने से उनके सुहाग की सलामती का आर्शीवाद भी मिलता है।

इतना ही नहीं हरे रंग का संबंध बुद्ध ग्रह से भी होता है। ज्योतिषियों के मुताबिक जिन लोगों की कुंडली में बुध ग्रह कमजोर होता है, उन लोगों को हरे रंग के कपड़े पहनने के सलाह दी जाती है। बुध रंग का संबंध करियर और व्यापार से जुड़ा होता है। जब भी कोई हरा रंग धारण करता है तो बुध का बुरा प्रभाव कम होने लगता है और घर में संपन्नता आती है।

हरे रंग को उपचार का रंग भी माना जाता है। हरा रंग हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट की कई बीमारियों के लिए अच्छा माना जाता है। ज्योतिषियों के मुताबिक जिन शादीशुदा दंपत्तियों के जीवन में लड़ाई-झगड़ा या अनबन चल रही है, उनके बेडरूम के दक्षिण पूर्वी हिस्से में हरे रंग का पेंट करवा देना चाहिए। ऐसा करने से दंपत्ति का जीवन खुशहाल हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 18, 2017 10:39 am

  1. No Comments.
सबरंग