ताज़ा खबर
 

जानिए, व्यवसाय और नौकरी के हिसाब से आपको कौनसा रत्न पहनना चाहिए?

रत्न अपनी नौकरी और व्यवसाय के मुताबिक पहनेंगे तो इससे ज्यादा फायदा मिलेगा।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अगर आप भी ज्योतिष में विश्वास रखते हैं और रत्न या रुद्राक्ष धारण करते हैं तो आपको विशेष सावधानी बरतनी होगी। आपको किसी ज्योतिष से सलाह लेकर रत्न धारण करना चाहिए। इतना ही बल्कि आप रत्न चुनने से पहले यह भी सलाह ले लें कि आपके काम और नौकरी के मुताबिक कौनसा रत्न धारण करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा। हम आपको एक ऐसी लिस्ट बता रहे हैं, जिसमें देखकर आप अपनी नौकरी और व्यवसाय के मुताबिक रत्न चुन सकते हैं। यह लिस्ट हम आपको पं. शशि मोहन बहन द्वारा लिखी गई किबात ‘रत्न रंग और रुद्राक्ष’ से साभार लेकर बात रहे हैं।

किताब में साथ ही लिखा है कि अगर आप इस लिस्ट को देखकर अपने लिए कोई रत्न नहीं चुन पा रहे हैं तो उसका समाधान है कि आप नौ के नौ रत्नों की अंगुठी बनवाकर धारण कर लें। इससे आपको फल अपने आप ही मिलने लगेंगे और कोई विपत्ति भी नहीं आएगी।

यहा देंखे लिस्ट-
फिल्म प्रोड्यूसर, डायरेक्टर, डिस्ट्रीब्यूटर- हीरा
राजनेता, सामाजिक कार्यकर्ता- माणिक, मूंगा
कलाकार, संगीतकार, गीतकार, डॉक्टर, एक्टर, कर्मचारी- हीरा, मोती, सफेद पुखराज
लेखक, कारागर में काम करने वाले- पन्ना, मणिक
प्रशासनिक अधिकारी- नीलम, मूंगा
बैंक, बैंकिंग, वाणिज्य संबंधि, गणित से आजीविका कमाने वाले, सेल्स और इंकम टैक्स अधिकारी- पन्ना
लोहे, पटसन और कोयले का व्यापार करने वाले- मूंगा, नीलम
जज, सेना अधिकारी- माणिक,
वकील, प्रोफेसर- मूंगा, पन्ना
कमीशन एजेंट, आढ़ती- मूंगा और पुखराज

आपको यह भी बता दें किसी की भी सलाह पर रत्न ना पहनें। ज्योतिष विशेषज्ञों के मुताबिक अगर आप राशि के मुताबिक रत्न पहननें हैं तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा। वहीं अगर अपनी मर्जी से रत्न पहनते हैं तो उसका फल नहीं मिलेगा। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कि वृषभ राशि के लोगों को विशेष रुप से मूंगा और पुखराज रत्न धारण नहीं करना चाहिए। वहीं मेष राशि के लोगों के लोगों को पन्ना और पुखराज रत्न धारण नहीं करना चाहिए। सिंह राशि के लोगों को कभी शनि का नीलम रत्न नहीं पहनना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग