ताज़ा खबर
 

शुक्रवार को रखें संतोषी मां का व्रत, जानें क्या है तरीका और क्या होगा फायदा

ज्योतिषियों के अनुसार जो भी संतोषी माता का व्रत रखता है उस पर मां की कृपा जरुर बरसती है और सभी इच्छाओं की पूर्ति होती है।
संताषी मां को खुश करने के लिए व्रत रखा जाता है। (photo source – Facebook)

कई ज्योषियों का मानना है कि संतोषी मां का पाठ करने से घर में प्रेम, खुशी, क्षमा, शांति आती है। संतोषी मां की पूजा करना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि जो 16 शुक्रवार तक संतोषी मां का व्रत रखने से सारी इच्छाएं पूरी होती हैं। पूजा रखने वाले को कोई कठिनाई नहीं आती।  संतोषी मां को दुर्गा मां का अवतार माना जाता है। संतोषी मां को खुश करने के लिए व्रत रखा जाता है। ज्योतिषियों के मुताबिक व्रत रखने संतोषी मां खुश होती है।

कहा जाता है कि इस दिन सूर्य निकलने से पहले उठना चाहिए। उठकर सबसे पहले घर की साफ-सफाई करनी चाहिए। घर की साफ- सफाई के बाद स्नान करना चाहिए। इस दिन स्वच्छ वस्त्र धारण करें। सारी क्रियाएं करने के बाद घर के मंदिर में संतोषी माता की मूर्ति स्थापित करें। संतोषी मां की पूजा करने के पहले एक कटोरी रखकर उसमें गुड़ और चना रखें। इसके साथ एक गिलास में पानी अवश्य रख लें। आरती करने के बाद संतोषी मां की कथा जरुर सुने। पूजा- पाठ खत्म होने के बाद गुड़-चने का प्रसाद बांट दें।

गिलास में रखे जल को घर में छिड़क दें। बचे हुए जल को तुलसी के गमले में अर्पित कर दें। ऐसा लगातार 16 शुक्रवार तक करें। 16 शुक्रवार पूरे होने के बाद विधि-विधान से व्रत रखकर आखिरी शुक्रवार को उद्यापन करें। उद्यापन आखिरी शुक्रवार को करें। ध्यान रहे उद्यापन में 8 बालकों को खीर-पुरी का भोजन करवाएं साथ ही इच्छानुसार दक्षिणा एवं केले का प्रसाद भी दें। ये सब करने के बाद खुद खाना खाएं।

इस व्रत के बारें में कहा जाता है कि इस दिन इस दिन व्रत रखने वाले को किसी भी खट्टी चीजों को नहीं खाना चाहिए और ना ही स्पर्श नहीं करना चाहिए। इस दिन भोजन में कोई भी खट्टी चीज, अचार या कोई खट्टा फल नहीं खाना चाहिए। जिस व्यक्ति ने व्रत रखा है उसके किसी भी सदस्य को कोई भी खट्टी चीज नहीं खानी चाहिए।

ज्योतिषियों के अनुसार जो भी संतोषी माता का व्रत रखता है उस पर मां की कृपा जरुर बरसती है और सभी इच्छाओं की पूर्ति होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग