ताज़ा खबर
 

आज है रविवार सप्तमी, ऐसे करें पूजा और व्रत

16 जुलाई को रविवार सप्तमी है। इसका वक्त सूर्योदय से दोपहर 1.37 तक है।
रविवार सप्तमी: 16 जुलाई को रविवार सप्तमी है।

गौरव मित्तल। 16 जुलाई को रविवार सप्तमी है। इसका वक्त सूर्योदय से दोपहर 1.37 तक है। रविवार सप्तमी के दिन अगर कोई नमक मिर्च बिना का भोजन करे और सूर्य भगवान की पूजा करे, तो उस घातक बीमारियां दूर हो सकती हैं, अगर बीमार व्यक्ति न कर सकता हो तो कोई ओर बीमार व्यक्ति के लिए यह व्रत करे। इस दिन सूर्यदेव की पूजा करनी चाहिये। सूर्यदेव के पूजन की विधि यहां पढ़ें:

1) सूर्य भगवान को तिल के तेल का दिया जला कर दिखाएं, आरती करें।
2) जल में थोड़े चावल ,शक्कर , गुड, लाल फूल या लाल कुमकुम मिला कर सूर्य भगवान को अर्घ्य दें।

सूर्य अर्घ्य मंत्र

1. ॐ मित्राय नमः।
2. ॐ रवये नमः।
3. ॐ सूर्याय नमः।
4. ॐ भानवे नमः।
5. ॐ खगाय नमः।
6. ॐ पूष्णे नमः।
7. ॐ हिरण्यगर्भाय नमः।
8. ॐ मरीचये नमः।
9. ॐ आदित्याय नमः।
10. ॐ सवित्रे नमः।
11. ॐ अकीय नमः।
12. ॐ भास्कराय नमः।
13. ॐ श्रीसवितृ-सूर्यनारायणाय नमः।

घातक बीमारियाँ दूर करने के लिए :

1) रविवार सप्तमी के दिन बिना नमक का भोजन करें।
2) सूर्य भगवान का पूजन करें, अर्घ दें व भोग दिखाएं, दान करें।

तिल के तेल का दिया सूर्य भगवान को दिखाएँ व ये मंत्र बोलें :

“जपा कुसुम संकाशं काश्य पेयम महा द्युतिम ।
तमो अरिम सर्व पापघ्नं प्रणतोस्मी दिवाकर ।।”

इस बात का रखें विशेष ध्यान
घर में कोई बीमार रहता हो या घातक बीमारी हो तो परिवार का सदस्य ये विधि करें तो बीमारी दूर होगी। इस दिन किया गया जप ध्यान का लाख गुना फल होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 16, 2017 11:12 am

  1. No Comments.
सबरंग