May 24, 2017

ताज़ा खबर

 

अगर प्रेम संबंधों में है कोई समस्या तो पहनना चाहिए ये रत्न

फिरोज रत्न को पहनने से परिवार के सदस्यों के साथ चल रहे मतभेद खत्म होते हैं।

सांकेतिक फोटो

कुंडली को देखकर ज्योतिषी व्यक्ति के बारे में कई तरह की बातें बता सकते हैं। कई ज्योतिषियों का मानना है कि रत्नों को धारण करने से व्यक्ति की कई तरह की परेशानियां दूर हो जाती हैं। कहा जाता है कि रत्नों में कई तरह के रोगों से लड़ने की शक्तियां होती है। ज्योतिषियों का कहना है कि नीलम, मूंगा, रूबी, पुखराज आदि रत्न व्यक्ति के लिए शुभ होते हैं। इन रत्नों के अलावा भी ज्योतिषी कई दूसरे रत्न पहनने की सलाह देते हैं।

जब किसी जातक को प्रेम संबंधों में समस्याओं को सामना करना पड़ता है तो उसे फिरोजा रत्न पहनने की सलाह दी जाती है। ज्योतिषियों का कहना है कि जिन लोगों को प्रेम संबंधी समस्याएं है तो ये रत्न उसे ठीक करने का काम करते हैं। अगर किसी की पति-पत्नी ,बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड के बीच तनाव चल रहा है तो उसे फिरोजा रत्न की दो अंगूठियां बनवाने की सलाह दी जाती है। इस रत्न के बारे में कहा जाता है कि यह रत्न गहरा नीला, आसमानी और कई ओर रंगों से मिलकर बनकर हुआ है। इसे रत्न पहनने से कई रोग दूर होते हैं।

धनु और मीन राशि के लोगों को फिरोजा रत्न पहनने की सलाह दी जाती है। कहा जाता है कि अगर धनु और मीन राशि के लोग पहनते हैं तो परेशानियां दूर होती हैं। वहीं जिन लोगों का बृहस्पति कमजोर होता हैं, उन्हें भी यही रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है।

फिरोजा रत्न पहनने से परिवार के सदस्यों के साथ चल रहे मतभेद दूर होते हैं। फिराजा रत्न के बारें में जानकारों का कहना है कि इस रत्न को पहनने से दिल की कई बिमारियां ठीक हो जाती हैं। अगर किसी व्यक्ति को आंखों की परेशानियां हैं तो उसे भी यही रत्न पहनने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा इस रत्न से गुर्दे संबंधी रोग भी खत्म होते हैं।

ज्योतिषियों का कहना है कि इस रत्न को पहनने से व्यक्ति की बुरी नजर से रक्षा होती है। इस रत्न को आत्मविश्वास बढ़ाने में भी सहायक बताया गया है। जिन लोगों का जन्म पौष महीने में हुआ है उन लोगों के लिए यह रत्न काफी शुभ माना जाता है।

जिन लोगों का जन्म दिसंबर के महीने में हुआ है, उन लोगों को ये रत्न जरुर पहनना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु या केतु का कोई दोष है उसे भी फिरोज रत्न पहनने की सलाह दी जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 20, 2017 2:45 pm

  1. No Comments.

सबरंग