ताज़ा खबर
 

अगर भाग्य रेखा के उद्गम-स्थल पर त्रिभुज का निशान है तो आप करेंगे तरक्की

जानिए, आपकी हथेली की भाग्य रेखा क्या कहती है?
समुद्रशास्‍त्र में पुरुषों के शुभ लक्षण और गुण बताते हुए कहा गया है क‌ि भाग्यभाशाली और महापुरुषों के यह 7 अंग लाल होते हैं।

हमारे हाथ की हथेली में बहुत सी रेखाएं होती हैं। इन रेखाओं का क्या महत्व है इसके बारे में भले हम ठीक से ना जान पाएं, लेकिन हस्त रेखा विशेषज्ञ हाथों की रेखाओं को देखकर हमारा भविष्य बता सकते हैं। हस्त रेखा विशेषज्ञ कहते हैं कि हमारे हाथ में भाग्य रेखा, उम्र रेखा आदि रेखाएं होती हैं। आज हम आपके लिए लाएं हैं किरो हस्तरेखा शास्त्र किताब से हास्त रेखा के बारे में खास जानकारी, जिसमें भाग्य रेखा के बारे में बतााया गया है। कहा जता है कि अगर उद्गम-स्थल पर त्रिभुज का चिन्ह है तो वह व्यक्ति अपनी प्रतिभा के बल से असाधारण प्रगति करता है।

1.किताब में लिखा गया है कि यदि भाग्य रेखा और पर्वत सूर्य के मध्य निर्दोष समाप्त होती है और हाथ में सूर्य पर्वत उभार आते हैं तो ऐसा व्यक्ति फिल्मी दुनिया में सफलता प्राप्त करते हैं।
2.भाग्य रेखा शुरु में दोषपूर्ण है तो उसका शुरुआती जीवन काफी कष्टमय हो सकता है।
3. यदि भाग्य रेखा अचानक से रुकी हुई है और कोई दूसरी रेखा उससे आगे नहीं बढ़ रही हो तो विशेष क्रांतिकारी परिवर्तन आता है।
4. जिस व्यक्ति की हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है, तो व्यक्ति कर्म पर अधिक ध्यान रखता है और सामान्य जीवन जीता है।
5. अगर किसी व्यक्ति की हथेली में रेखा माध्यमा उंगली से गुजरती पर चढ़ जाती है तो बुढ़ापा में आश्रित रहना पढ़ना है।
6. यदि आपके हाथ की भाग्य रेखा लाल रंग की है और मध्यमा उंगली से पहले पोर से स्पर्श करती है तो ऐसे व्यक्ति की अस्वाभाविक मृत्यु होती है।
7. यदि आपकी भाग्य रेखा हृदय रेखा को पार करते समय जंजीरेदार बन जाती है तो व्यक्ति अतृत्य रहता है।
8.जिस व्यक्ति की हथेली में भाग्य रेखा नहीं होती है, वह व्यक्ति काम पर ज्यादा ध्यान देता है।
9. भाग्य रेखा का उद्गम-स्थल मस्तिष्क रेखा से है और शनि पर्वत पर पहुंचकर अनेक भागों में विभक्त होकर सूर्य , बुध और गुरु पर्वत पर पहुंचती है, तो ऐसा व्यक्ति विश्वख्याति प्राप्त करता है। यदि भाग्य रेखा लाल रंग की है। तो उस व्यक्ति को सम्पूर्ण जीवन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

 

[jwplayer XgQ55PYE-gkfBj45V]

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.