ताज़ा खबर
 

अपनाएंगे ये तरीके तो घर का वास्तु दोष दूर कर देंगे भगवान श्री गणेश

किसी भी भगवान से पहले भगवान श्रीगणेश की पूजा को अनिवार्य बताया गया है।
भगवान श्रीगणेश की मूर्ति को सजाती एक युवती।(Photo Source: PTI)

भगवान श्री गणेश को हर एक दूख दूर करने वाला देवता माना जाता है। किसी भी देवता की पूजा करने से पहले भगवान श्री गणेश की पूजा करना अनिवार्य है। कहा जाता है कि भगवान श्रीगणेश की पूजा करने से हर एक बिगड़ा काम बन जाता है। अभी गणेशोत्सव चल रहा है, ऐसे में भगवान श्री गणेश की पूजा बड़ी धूमधाम से की जाती है। गणेश चतुर्थी के दिन भगवान श्रीगणेश को अपने घर में विराजमान किया जाता है। इसके बाद पूरे दस दिन तक उनकी पूजा की जाती है और फिर दसवें दिन उन्हें विसर्जित कर दिया जाता है। इस शुभ मौके पर हम आपको बता दें कि वास्तु शास्त्र में भी भगवान श्री गणेश को विशेष स्थान दिया गया है। आप भी कुछ तरीके अपनाकर अपने घर के वास्तु दोष को दूर कर सकते हैं।

भगवान श्री गणेश की मूर्ति या तस्वीर घर के मुख्य द्वार पर लगाने से उन्नति के योग बनते हैं। ज्योतिष के जानकारों का कहना है कि ऐसा करने से उस घर में रहने वाले लोगों की तरक्की होती है। लेकिन इस दौरान ध्यान रखें कि पीपल, आम या नीम की लड़की से बनी भगवान श्रीगणेश की मूर्ति लगाएंगे तो ज्यादा फायदा होगा। बताया जाता है कि इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश नहीं कर सकती और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। श्री गणेश की यह तस्वीर गेट की चौखट के ऊपर लगानी चाहिए। जब भी मूर्ति या तस्वीर अपने घर के मुख्य द्वार पर लगाएं तो सिंदूर से मूर्ति के पास भगवान श्री गणेश की दोनों पत्नियों रिद्धि और सिद्धि का नाम भी लिखें।

इसके अलावा यह भी ध्यान रखना है कि भगवान की तस्वीर में उनकी सवारी मूसक और पसंदीदा मिठाई मोदक जरूर होना चाहिए। इसके साथ ही यह भी गौर करने वाली बात है कि घर में श्रीगणेश की ज्यादा मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए। मूर्ति किस मुद्रा में है, यह भी काफी महत्व रखता है। घर में अगर पूजा के लिए भगवान गणेश की मूर्ति लगाई गई है तो वह शयन या बैठी हुई मुद्रा में होनी चाहिए, वहीं अगर ऑफिस में आप मूर्ति लगाते हैं तो उनकी मूर्ति खड़ी हुई मुद्रा में होनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.