ताज़ा खबर
 

कम ही लोग जानते होंगे रामायण से जुड़े ये पांच तथ्य!

भगवान राम विष्णु जी के अवतार थे, लेकिन यह बहुत ही कम लोगों को जानकारी होगी कि लक्ष्मण शेषनाग के अवतार थे।
रामलीला मंचन की एक तस्वीर। (Photo Source: Indian Express Archive)

हिंदू धर्म में धार्मिक ग्रंथ रामायण का विशेष महत्व है। रामायण के बारे में जानकारी ज्यादातर लोगों ने टीवी सीरियल और रामलीला मंचन के द्वारा ही हासिल की है। हालांकि, कुछ लोगों ने किताबों के जरिए भी रामायण की जानकारी हासिल की है। लेकिन इस दौरान कुछ ऐसे तथ्य होते हैं, जो हमें पता नहीं लग पाते। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे तथ्य जिन्हें जानकर आप हैरान हो सकते हैं।

-हम सब यह जानते है कि राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न चार भाई थे लेकिन बहुत कम लोग यह जानते है कि उनकी एक बड़ी बहन भी थी जिनका नाम शांता था। पौराणिक कथा के अनुसार अंग देश के राजा की कोई संतान नहीं थी, जिस वजह से वह बहुत दुखी थे। जब उन्होंने अपना ये दुख राजा दशरथ के सामने व्यक्त किया तो उन्होंने अपनी पुत्री शांता को उन्हें गोद दे दिया।

-भगवान श्रीराम ने ही अपने छोटे भाई लक्ष्मण को मृत्यु दण्ड दिया था। एक बार यमराज श्रीराम जी के पास आए और उन्होंने कहा कि उन्हें कुछ महत्वपूर्ण बातें करनी है लेकिन बात करने से पहले उन्होंने श्रीराम जी से वचन लिया कि अगर हमें किसी ने बात करते हुए देखा या सुना तो उसे मृत्यु दण्ड देना होगा। जब वे दोनों बात कर रहे थे तभी लक्ष्मण अंदर आ गए। इसके बाद भगवान राम ने अपना वचन निभाते हुए लक्ष्मण को मृत्यु दण्ड दे दिया।

-हम सब लोग यह जानते है कि भगवान राम विष्णु जी के अवतार थे पर यह कम ही लोग जानते होंगे कि लक्ष्मण शेषनाग के अवतार थे।

-इस बारे में भी लोगों को कम ही जानकारी होगी कि हनुमान जी को बजरंगबली क्यों कहते है? पौराणिक कथा के मुताबिक एक बार माता सीता सिन्दूर लगा रही थीं तो हनुमान जी माता पूछते है कि माता आप रोज सिन्दूर क्यों लगाती हैं। इस पर सीता माता ने बताया कि वह श्री राम की लंबी उम्र के लिए ऐसा करती है। यह सुन कर हनुमान जी ने अपने पूरे शरीर पर सिन्दूर लगा लिया तभी से उन्हें बजरंग बली कहा जाने लगा। हिन्दी में बजरंग को सिन्दूर कहा जाता है।

-ये तो सब जानते है कि लक्ष्मण जी 14 वर्ष तक वनवास में थे लेकिन यह कम ही लोग जानते होंगे कि वे 14 वर्ष में एक बार भी नहीं सोए थे। उन्होंने नींद की देवी निंदरा से वरदान लिया था कि उन्हें 14 साल तक नींद न आए ताकि वह अपने बड़े भाई और सीता जी की सेवा कर सके। लक्ष्मण जी के बदले की नींद उनकी पत्नी उर्मिला को मिली थी और वह 14 साल तक सोई रही थीं।

ये तथ्य ऊपर दिए गए वीडियो के आधार पर लिखे गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग