ताज़ा खबर
 

करवा चौथ 2017 पूजा: व्रत के दौरान जरूर रखें इन बातो का ध्यान

Karwa Chauth 2017 Vrat Puja Vidhi, Tips: करवाचौथ का व्रत सबसे कठिन व्रत माना जाता है क्योंकि इसमें बिना पानी और अन्न का एक भी दाना ग्रहण नहीं किया जाता है।
Karwa Chauth 2017 Vrat: कैसे रखें करवाचौथ के व्रत में सेहत का ख्याल।

करवाचौथ हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार माना जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार ये पर्व कार्तिक माह के चौथे दिन आता है। करवाचौथ का पर्व 8 अक्टूबर को है। इस दिन शादी-शुदा महिलाएं निर्जला व्रत करती हैं। करवाचौथ का व्रत सबसे कठिन व्रत माना जाता है क्योंकि इसमें बिना पानी और अन्न का एक भी दाना ग्रहण नहीं किया जाता है। इस एकदिवसीय व्रत की अवधि सुबह सूरज उगने से पहले से लेकर शाम चंद्रमा की पूजा करने के पश्चात तक रहती है। इस दिन महिलाएं खूब सजती और संवरती हैं। हर महिला को इस दिन सबसे ज्यादा सुंदर दिखने की चाह रहती है। सिर्फ मेकअप करके ही सुंदर नहीं लगा जा सकता है। इसके लिए अपने आप को हेल्दी रखना आवश्यक होता है और इस दिन सुबह के समय सेहतमंद खाना आवश्यक होता है क्योंकि इससे ही आपके चेहरे पर पूरे दिन चमक रहती है।

पूरे भारतवर्ष में हिन्‍दू धर्म में आस्था रखने वाले लोग बड़ी धूमधाम से करवाचौथ मनाते हैं। हालांकि उत्तर भारत खासकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि में इस रात की रौनक अलग ही होती है। करवाचौथ के दिन अपने आप को रखना चाहते हैं सेहतमंद तो जरुर रखें अपने खानपान का ध्यान। ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि पूरे दिन भूखा रहना है तो सुबह बहुत ही ज्यादा खा लिया जाए इससे आपकी सेहत खराब हो सकती है जिसके कारण आपके त्योहार के रंग भी फीके पड़ सकते हैं तो सरगी का भोजन लेते समय कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखना चाहिए।

संतुलित शुगर का सेवन- इस दिन शुगर का सेवन संतुलित रखें। अगर शुगर वाले भोजन को लेना जरूरी है, तो बहुत कम मात्रा में ही लें। दरअसल, मीठे भोजन में भूख को बाद में बढ़ने की प्रवृत्ति होती है।

पनीर का सेवन- आप पनीर खा सकती हैं क्योंकि इससे पेट भरा लगता है और इसमें प्रोटीन की मात्रा भी अधिक होती है।

गरम पानी- सरगी के समय में प्रचुर मात्रा में (2-6) ग्लास गुनगुने पानी का सेवन करें। गुनगुना पानी तेजी से अवशोषित हो जाता है क्योंकि यह शरीर का तापमान से मेल खाता है।

ड्राईफ्रूट का सेवन- बादाम और अखरोट भी एक अच्छा विकल्प है क्योंकि इससे आपकी ऊर्जा बनी रहती है और आपको भूख को बर्दाश्त करने की ताकत मिलती है।

काम में व्यस्त रहें- भूख से अपने दिमाग को हटाने के लिए अपने खुद को किसी काम में व्यस्त रखें। अपने दोस्तों या परिवार के साथ व्यस्त रख सकती हैं।

व्रत के बाद- ध्यान रखें कि जब आप अपना उपवास खोलें, तो बहुत मसालेदार और तेलयुक्त भोजन नहीं खाएं। पूरे दिन उपवास करने के कारण पेट में अम्लता का स्तर अधिक होता है। अच्छी गुणवत्ता वाले कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन वाले खाने से शरीर को रिचार्ज करने में मदद मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग