ताज़ा खबर
 

इस बार रक्षा बंधन पर भद्रकाल का नहीं चंद्र ग्रहण का रखें ध्यान, केवल 5 घंटे ही है शुभ मुहूर्त

Raksha Bandhan, Chandra Grahan 2017 Date: इस बार रक्षा बंधन पर खंडग्रास चंद्र ग्रहण का साया रहेगा। रक्षा बंधन सात अगस्त को मनाया जाएगा।
Raksha Bandhan 2017: रक्षा बंधन पर राखियां खरीदती एक युवती। (Photo Source: Indian Express)

रक्षा बंधन सात अगस्त को मनाया जाएगा। रक्षा बंधन में बहन के द्वारा भाई को राखी बांधने का एक शुभ मुहूर्त होता है। इस मुहूर्त के दौरान ही राखियां बांधी जाती हैं। लेकिन बताया जा रहा है कि इस बार राखी बांधने के समय को लेकर लोगों में संशय बना हुआ है। हर बार रक्षाबंधन के दौरान भद्रकाल का ध्यान रखा जाता है। भद्रकाल के दौरान बहन, भाई को राखी नहीं बांधती है क्योंकि इसे अशुभ माना जाता है। ज्योतिष के मुताबिक भद्रकाल में राखी बांधना घातक होता है। ऐसे में भद्रकाल से पहले या उसके टलने के बाद ही राखी बांधी जाती है।

लेकिन इस बार भद्रकाल से ज्यादा चंद्र ग्रहण का डर है। इस बार रक्षा बंधन पर चंद्रग्रहण का साया पड़ रहा है। लोगों को राखी बांधने के समय के दौरान चंद्र ग्रहण के साये का ध्यान रखना होगा। चंद्र ग्रहण की वजह से इस बार राखी बांधने के लिए केवल पांच घंटे ही शुभ मुहूर्त है। हिंदी अखबार नवभारत टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में प्रसिद्ध् ज्योतिषाचार्य कृष्णदत्त शर्मा के हवाले से लिखा है, ‘वर्तमान विक्रमी संवत में श्रावण की शुक्ल पूर्णिका 7 अगस्त को सूर्योदय से पूर्व ही शुरु हो जाएगी और रात के 11 बजकर 41 मिनट पर रहेगी। इसके अलावा चंद्र ग्रहण के सूतक का समय दोपहर 1 बजकर 52 मिनट से शुरू हो जाएगा।’ इसलिए इस बार बहनों को चंद्रग्रहण लगने से पहले ही भाईयों को राखी बांधनी होगी। यह समय होगा सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर 1.50 मिनट तक। इस समय के बीच राखी बांधना शुभ रहेगा। बता दें, इस बार रक्षा बंधन पर खंडग्रास चंद्र ग्रहण पड़ रहा है।

बता दें, भाई और बहन के प्यार का त्योहार है रक्षा बंधन, यह त्योहार श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस त्योहार का प्रचलन सदियों पुराना बताया गया है। इस दिन बहने अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और भाई अपनी बहनों की रक्षा का संकल्प लेते हैं। रक्षा बंधन का शाब्दिक अर्थ हुआ रक्षा का बंधन। भाई अपनी बहन को हर मुश्किल से रक्षा करने वचन देता है। बहनें अपने भाई की लंबी आयु की कामना करती हैं। इसे राखी पूर्णिमा के तौर पर भी जाना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    Sukhmangal Singh
    Aug 7, 2017 at 7:09 am
    पोष्ट बहुत सुन्दर सूचना | एक रचना - "रक्षाबंधन " धान के लावे सा रखते पास हो , दूर रहकर भी देते मेरा साथ हो ! दोनों थाम्हे एक दूजे के हाथ हो मुश्किलों में करते सुन्दर बात को, किस्से सुनाने सुनाने को जब याद हो ! दूर हो कैसे बताऊँ बात को | एक धागे से बंधे मेरे प्यार हों पवित्र - पर्व रक्षाबंधन त्यौहार हो |
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      Raja bhagat
      Aug 6, 2017 at 1:46 pm
      लेटेस्ट news
      (0)(0)
      Reply
      1. M
        Mahalaxmi vrat 16 days for 16 years
        Aug 4, 2017 at 9:32 am
        Mahalaxmi Vrat 16 days for 16 years fast will be done to get health, wealth and prosperity. How to do Maha Laxmi Vrata? What is step-wise puja procedure of Mahalakshmi Vrat? Mahalakshmi Vrata is the most observed laxmi puja in North Indian states. The foremost things to follow during Mahalakshmi puja are taking vegetarian food and neatness. In 16 days of Mahalxmi vrat you cannot eat grains, you can eat only fruits and other foods except any type of grains. e-mail at pulkit5225 rediffmail Women perform Lakshmi puja in early morning taking a ritual bath. After bath, in some places, women tie 16 knotted cotton white thread strings on to left hand or put in pooja or in front of Mahalxmi and remove knot everyday for 16 days and sprinkle some water using Durva grass blades on to their body. Before sprinkling water, the Durva grass blades are kept in water. e-mail at pulkit5225 rediffmail Do Mahalaxmi Vrat and get blessed from Mahalaxmi for your Health, Wealth, and Prosperity
        (0)(0)
        Reply
        1. M
          Mahalaxmi vrat 16 days for 16 years
          Aug 4, 2017 at 9:26 am
          Mahalaxmi Vrat 16 days for 16 years fast will be done to get health, wealth and prosperity. How to do Maha Laxmi Vrata? What is step-wise puja procedure of Mahalakshmi Vrat? Mahalakshmi Vrata is the most observed laxmi puja in North Indian states. The foremost things to follow during Mahalakshmi puja are taking vegetarian food and neatness. In 16 days of Mahalxmi vrat you cannot eat grains, you can eat only fruits and other foods except any type of grains. e-mail at pulkit5225 rediffmail Women perform Lakshmi puja in early morning taking a ritual bath. After bath, in some places, women tie 16 knotted cotton white thread strings on to left hand or put in pooja or in front of Mahalxmi and remove knot everyday for 16 days and sprinkle some water using Durva grass blades on to their body. Before sprinkling water, the Durva grass blades are kept in water. e-mail at pulkit5225 rediffmail Do Mahalaxmi Vrat and get blessed from Mahalaxmi for your Health, Wealth, and Prosperity
          (0)(0)
          Reply
          सबरंग