ताज़ा खबर
 

मंगल के क्रूर प्रभाव से होता है शरीर में खून कम, हर ग्रह देता है अपने बिगड़े होने का संकेत

घर में रोजाना ही कोई शीशे का बर्तन या सामान टूट रहा है तो इसका अर्थ है कि आपका चंद्रमा कमजोर है।
Author November 15, 2017 16:56 pm
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार समझा जाए तो ग्रह के बिगड़े होने का प्रभाव हमारी सेहत पर भी पड़ता है।

ज्योतिष विद्या के अनुसार कुंडली में ग्रहों के बिगड़े होने के कारण ही हमारे जीवन में परेशानियां आती हैं। इस अशुभ स्थित के कारण ही कई क्षेत्रों में असफलता का सामना करना पड़ता है, सिर्फ असफलता ही नहीं खराब सेहत भी हमारे जीवन को उथल-पुथल कर देती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार समझा जाए तो ग्रह के बिगड़े होने का प्रभाव हमारी सेहत पर भी पड़ता है और उन्हें सुधारने के लिए उचित उपाय अपनाने की जरुरत होती है। कई बार लोगों के पास कुंडली या उसका ज्ञान नहीं होता है जिससे वो पता लगा सके कि उनके जीवन में आने वाली परेशानी किस कारण से हो रही है तो उन लोगों को किसी ज्ञानी के पास जाकर अपने आस-पास होने वाली स्थिति से समझ लेना चाहिए कि उसके ग्रह किस तरफ इशारा कर रहे हैं।

– यदि घर में रोजाना ही कोई शीशे का बर्तन या सामान टूट रहा है तो इसका अर्थ है कि आपका चंद्रमा कमजोर है और तभी आपको सावधान हो जाना चाहिए कि आपके घर कि किसी महिला की सेहत खराब होने वाली है।
– घर में बिजली का सामान खराब होने लगे तो हो सकता है राहु की चाल कुंडली में खराब हो रही है। इसका अर्थ होता है कि आपके घर का खर्च बढ़ सकता है।

– यदि आपके बाल झड़ रहे हों या जोड़ों की हड्डियों में से आवाज आने लगे तो ये सूर्य के खराब होने का संदेश होता है।
– खून की कमी, बार-बार चोट लगना, सर में चोट, नौकरी में शत्रुओं का पैदा होना इसका अर्थ होता है कि मंगल में की चाल बिगड़ रही है। इसके लिए हर मंगलवार को हनुमान जी का पूजन करना चाहिए।
– नाक की समस्या, दांतों की समस्या होने लगे तो समझ लें कि बुध की चाल ठीक नहीं है। व्यपारियों का धन अटकने लगे तो भी बुध का बुरा प्रभाव पड़ता है।
– स्कीन की समस्याएं और आए दिन चोट लगने का ये अर्थ होता है कि शुक्र ग्रह की स्थिति ठीक नहीं है तो इसके लिए गाय को रोटी खिलाना आपके लिए शुभ रहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.