April 30, 2017

ताज़ा खबर

 

शादीशुदा महिला को प्यार करने की मिली खौफनाक सजा, प्रेमी के साथ बिना कपड़ों के पूरे गांव में घुमाया

मारने पीटने के बाद दोनों को पूरे गांव में बिना कपड़ों के घूमने पर मजबूर किया गया। घटना का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस को इस मामले की जानकारी हुई।

इस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ खबर के प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है।

मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां एक प्रेमी जोड़े को बिना कपड़ों के पूरे गांव में घुमाया गया। इस दौरान वहां मौजूद कुछ लोगों ने घटना का वीडियो बना लिया। जानकारी के मुताबिक यह मामला रतलाम के रावटी के मेघलीखेड़ी गांव का है। गांव में रहने वाली एक शादीशुदा महिला को एक शख्स से प्यार हो गया। इसके बाद दोनों ने गांव छोड़कर रतलाम में रहने का फैसला किया। दोनों भागने में कामयाब भी रहे। महिला का प्रेमी भी शादीशुदा बताया जा रहा है।

कुछ दिन बाद महिला के सुसरालवालों को दोनों के रतलाम में होने की जानकारी मिली। गुस्साए ससुरालवाले महिला और उसके प्रेमी को रतलाम से गांव लेकर वापस आए। इसके बाद उन्होंने महिला और उसके प्रेमी को बुरी तरह से मारा पीटा। मारने पीटने के बाद दोनों को पूरे गांव में बिना कपड़ों के घूमने पर मजबूर किया गया। प्रदेश 18 की रिपोर्ट के मुताबिक घटना का वीडियो सामने आने के बाद इस खौफनाक मामले की जानकारी हुई। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर उनकी तलाश तेज कर दी है। सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि जून महीने में ऐसा ही एक मामला राजस्थान के उदयपुर जिले में भी सामने आया था। यहां पर भी आदिवासी महिला और उसके प्रेमी को प्यार करने और साथ में रहने के लिए बिना कपड़ों के घुमाया गया था। आरोपियों ने प्रेमी जोड़े को पूरे गांव में घुमाने के साथ ही उन्हें पेड़ से भी बांधकर मारपीट भी की थी। इस मामले में पुलिस ने 13 लोगों को गिरफ्तार किया था। रिपोर्ट के मुताबिक महिला शादीशुदा थी और बिना समुदाय की इजाजत के प्रेमी के साथ रह रही थी।

वीडियो: 14 साल की दलित लड़की के साथ 4 लोगों ने गैंगरेप किया

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 7:47 pm

  1. उदय तिवारी
    Nov 15, 2016 at 10:46 am
    इसमें शर्मनाक क्या है.. ? दरअसल जूते तो इस खबर के रिपोर्टर और इसे approval देने वाले एडिटर पर भी पड़ने चाहिएं.. जो उचित विरोध को शर्मनाक बता कर नग्नता और अनैतिक व्यवहार को बढ़ावा दे रहे हैं.. ! वाहियात प्रस्तुतीकरण..
    Reply

    सबरंग