ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता जूही चौधरी को पकड़ने के लिए गेरुआ वस्त्र पहनकर संन्यासी बनी पश्चिम बंगाल पुलिस

पश्चिम बंगाल बीजेपी महिला विंग की महासचिव जूही चौधरी पर बाल तस्करी में शामिल होने का आरोप है।
पश्चिम बंगाल पुलिस के मुताबिक जूही चाइल्ड होम का लाइसेंस दिलाने में मदद की थी। (photo source- Indian express)

पश्चिम बंगाल में बाल तस्करी की आरोपी बीजेपी महिला विंग की महासचिव जूही चौधरी को पकड़ने के लिए सीआईडी को कई हथकंड़े अपनाने पड़े। जूही चौधरी के ख़िलाफ़ बाल तस्करी का केस दर्ज होने के बाद वो नेपाल फरार हो गई थी। और हिन्दुस्तान लौट ही नहीं रही थी, तभी पश्चिम बंगाल सीआईडी को सूचना मिली कि जूही चौधरी दार्जिलिंग के खारीबारी ब्लॉक में मौजूद है। ये इलाक़ा भारत-नेपाल बॉर्डर से काफी नजदीक है। इस सूचना को पाते ही पश्चिम बंगाल सीआईडी हरकत में आ गई। पश्चिम बंगाल की सतर्क सीआईडी पुलिस इस बार कोई मौक़ा नहीं चूकना चाहती थी। इसलिए सबसे सटीक प्लानिंग ज़रुरी थी।

एनडीटीवी के मुताबिक पुलिस पहले ये पता करने में जुट गई कि ये सूचना पुख्ता है या नहीं। इसके लिए पुलिस ने संन्यासियों के वेश भूषा वाले कुछ गेरुआ वस्त्र का जुगाड़ किया। और बन गये संन्यासी। इसके बाद पुलिस वाले भिक्षा मांगने के बहाने उसी घर में पहुंच गये, जहां जूही चौधरी के मौजूद होने की सूचना मिली थी। इस बार पुलिस की सूचना सही थी। थोड़ी देर में सीआईडी पुलिस की पूरी टीम ने उस घर को घेर लिया और जूही चौधरी को गिरफ़्तार कर लिया।

पुलिस के मुताबिक पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में चलने वाले बाल तस्करी के इस मामले में जूही चौधरी का अहम रोल है। और इस मामले की एक दूसरी आरोपी चंदना चक्रबर्ती ने इस केस में जूही चौधरी का नाम लिया इसके बाद वो नेपाल चली गई थी, इस वजह से पुलिस को उसे पकड़ने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

पश्चिम बंगाल के इस सनसनीखेज केस का खुलासा तब हुआ था जब पुलिस ने पिछले साल उत्तरी 24 परगना से बिस्किट के बक्सों में हो रही बच्चों की तस्करी का पर्दाफाश किया था। पश्चिम बंगाल पुलिस के मुताबिक इस केस की मुख्य आरोपी चंदना चक्रबर्ती ने पूछताछ में बताया कि जूही ने इस उसे चाइल्ड होम का लाइसेंस दिलाने में मदद की थी। आरोपी है कि इसी चाइल्ड होम से 17 बच्चों की तस्करी की गयी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जूही चौधरी ने चंदना का चाइल्ड होम के लिए केन्द्रीय मदद हासिल करने के लिए कैलाश विजयवर्गीय से मदद मांगी थी। लेकिन कैलाश विजयवर्गीय ने इससे इनकार किया है।

 

पश्चिम बंगाल: बाल तस्करी के मामले में बीजेपी की महिला नेता गिरफ्तार, कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली का भी आया नाम

बीजेपी नेता शाजिया इल्मी का आरोप- "जामिया के सेमिनार में ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर बोलने नहीं दिया गया"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग