ताज़ा खबर
 

ड्यूटी पर बीमार हुई नर्स, अपने ही अस्पताल ने नहीं किया इलाज, मौत

उमा केश ने अस्पताल से तबीयत खराब होने की वजह से छुट्टी मांगी थी लेकिन उन्हें अवकाश नहीं मिला।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल )

ओडिशा की रहने वाली 26 वर्षीय नर्स उमा केश की कोलकाता के एक अस्पताल में मृत्यु हो गई। अस्पताल पर आरोप है कि उसने नर्स का इलाज करने से मना कर दिया था।  उमा कोलकाता के साल्ट लेक में स्थिति एएमआरआई अस्पताल में पिछले दो साल से काम कर रही थीं।  उमा गुरुवार (10 अगस्त) को रात आठ बजे नाइट शिफ्ट के लिए अस्पताल पहुंची थीं। शुक्रवार तड़के दो बजे उन्होंने सिर दर्द की शिकायत की।  द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार उमा ने अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के डॉक्टर से कुछ दवाएं लीं लेकिन उनकी कोई जांच नहीं कराई गई।  सहकर्मियों के अनुसार उमा के सुपरिटेंडेंट ने उनसे कहा कि वो सुबह ईएसआई अस्पताल जाकर अपना इलाज करवा सकती हैं क्योंकि एएमआरआई अस्पताल की हेल्थ स्कीम के हिसाब से वही अस्पताल उनके लिए इलाज के पात्र है।

उमा की मौत के बाद उनके सहकर्मी और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने अस्पताल के एचआर मैनेजर से हाथापाई भी की जिसमें उन्हें मामलू चोट-खरोंच भी आई। अस्पताल की नर्सों का आरोप है कि उमा कई घंटे तक इमरजेंसी वार्ड में पड़ी रही थीं लेकिन उनकी कोई जांच नहीं की गई। डॉक्टर ने उमा को सीटी स्कैन करवाने के लिए कहा था लेकिन नर्सिंग विभाग की सुपरिटेंडेंट तुलिका रॉय ने उनसे कहा कि वो ईएसआई अस्पताल में जाकर सुबह टेस्ट करवा सकती हैं। डॉक्टरों के अनुसार सुबह साढ़े सात बजे उमा का हृदय गति रुक जाने से निधन हुआ। द टेलीग्राफ के अनुसार एएमआरआई अस्पताल डॉक्टर सरकार डॉक्टर रॉय को निलंबित कर दिया गया है।

उमा की रूम पार्टनर ममता सरकार ने द टेलीग्राफ अखबार को बताया कि उमा ने गुरुवार को तबीयत खराब होने की वजह से छुट्टी मांगी थी लेकिन अस्पताल ने उसकी छुट्टी मंजूर नहीं की। ममता सरकार के अनुसार उमा को कई दिनों से सिरदर्द की शिकायत थी और उसने एएमआरआई के एक डॉक्टर को दिखाया भी था। डॉक्टर ने उसे आंख के डॉक्टर को दिखाने की सलाह दी जिसके बाद उसने ऑप्थोमोलॉजिस्ट को दिखाकर चश्मा बनवाया था जिसे लगाकर वो पिछली रात अस्पताल भी आई थी। उमा के सहकर्मियों का आरोप है कि तबीयत खराब होने के बावजूद उमा को आईसीयू में नहीं भर्ती कराया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग