May 22, 2017

ताज़ा खबर

 

बंगाल: सांप्रदायिक तनाव के दौरान घरों में तोड़फोड़, हिंदुओं के मोहल्ले से मुसलमान और मुस्लिम इलाकों से पलायन कर रहे हैं हिंदू

पश्चिम बंगाल में 12 अक्टूबर को भड़के सांप्रदायिक झगड़ों में उत्तर 24 परगना जिले के हाजीनगर और हलीशहर में करीब 30 घर और दुकानों, वाहनों को बर्बाद या आग के हवाले कर दिया गया।

Author हाजीनगर | October 17, 2016 12:04 pm
बंगाल में भड़के सांप्रदायिक तनाव में बर्बाद हुआ घर। (Exprress Photo: Partha Paul)

पश्चिम बंगाल में 12 अक्टूबर को भड़के सांप्रदायिक झगड़ों में उत्तर 24 परगना जिले के हाजीनगर और हलीशहर में करीब 30 घर और दुकानों, वाहनों को बर्बाद या आग के हवाले कर दिया गया। पुलिस का कहना है कि हालातों पर काबू पा लिया गया है लेकिन लोगों बहुत से अपना घर छोड़कर जाने को मजबूर हैं। एक अधिकारी ने बताया कि हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि हिंसा में कितने लोग घायल हुए हैं लेकिन यह बड़े एरिया में फैल चुका है जो कि बहुत घनी आबादी वाला है। घायलों की संख्या 20 से कम नहीं होगी। कम से कम 30 घरों और दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया है जबकि 4 वाहनों नष्ट कर दिया गया है।

वीडियो: बिजनौर में स्कूली छात्रा से छेड़छाड़ के बाद सांप्रदायिक बवाल; मुस्लिम समुदाय के 4 लोगों की मौत

पुलिस ने कहा कि बुधवार को मुहर्रम के जुलूस के दौरान बम फेंकने के बाद मामला बढ़ गया। हालांकि इसमें कोई घायल नहीं हुआ था। इसके बाद कुछ हिंदुओं के घर पर भीड़ पर हमला कर दिया। इसे मुस्लिम भीड़ द्वारा कथित तौर पर बदला लेना बताया गया। हिंसा की शुरुआत हाजीनगर के नैहाटी जूट मिल एरिया से हुई, जहां जामा मस्जिद है और उसके पास ही नेलसन रोड पर हिंदु और मुस्लिम परिवार रहते हैं। गुरुवार को हिंसा पैटरसन रोड जा पहुंची, जहां हिंदू बाहुल्य इलाके में हाजीनगर छोटी मस्जिद के आसपास मुस्लिम कालोनी है। इस क्षेत्र में रहने वाले अनवर अली बताते हैं कि हाजीनगर पिछले कई महीनों से लगातार तनाव में है। यहां जामा मस्जिद के पास से दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के दौरान विवाद होता आ रहा है। तनाव के चार दिन बाद, मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों से हिंदू घर खाली हो गए हैं, ठीक इसी तरह से हिंदू बाहुल्य इलाके से मुस्लिम घर खाली हो गए हैं। दुकानें बंद हो गई हैं, दवा और खाने-पीने की दुकानों को मुश्किल से खोला गया है।

READ ALSO: बिहार: ताजिया जूलूस के दौरान दो समुदायों में तनाव, वाहनों और दुकानों में लगाई आग, निषेधाज्ञा लागू

गौरतलब है कि 12 अक्टूबर को दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन और ताजिया निकाले जाने को लेकर हुए विवाद के बाद राज्य के हावड़ा, हुगली, उत्तर 24 परगना, ब‌र्द्धमान, मालदा, पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर तथा मुर्शिदाबाद जिले के कई इलाकों में हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान दुकानों व मकानों में उपद्रवियों ने तोड़फोड़ के साथ आगजनी के साथ ही लूटपाट भी की थी। सर्वाधिक प्रभावित उत्तर 24 परगना का हाजीनगर हुआ। उपद्रवियों ने यहां पर एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया था जबकि आधे दर्जन लोग घायल हुए थे। यहां शनिवार को गुस्साई भीड़ पर पुलिस ने फायरिंग की जिसमें दो महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गई।

READ ALSO: देवी देवताओं की आपत्‍त‍िजनक तस्‍वीरें सर्कुलेट होने के बाद सारण में सांप्रदायिक तनाव, हिंसा और लूटपाट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 9:26 am

  1. A
    Aditya Kumar
    Oct 17, 2016 at 8:52 am
    Jansatta communists are expert in twisting the stories....reality is that only muslims are spreading communal tensions by burning hindu homes and only hindus are leaving the areas...They make stories like both are victims but the reality is very different...its the muslims who spred violence.
    Reply
    1. I
      IMRAN
      Oct 18, 2016 at 4:13 am
      ONLY RSS AND BJP PEOPLES ARE CREATING THIS SITUATION FOR THE POLITICAL BENEFIT WHICH IS VERY HARMFULL FOR THE FUTURE OF COUNTRY THEY RSS AND SHOULD BAN IN INDIA
      Reply
      1. M
        Manoj Verma
        Oct 19, 2016 at 11:20 am
        they (Alleged Intellectuals) deserve it
        Reply
        1. D
          Dilip Kumar
          Oct 19, 2016 at 11:40 am
          भारत में लगभग 320 320 करके दिल्ली सल्तनत और मुग़ल सल्तनत ने हुकूमत की फिर भी हिन्दू अल्पसंख्यक नहीं हुए लेकिन आज संघ कहता है हिंदुत्व खतरे में है हिंदुत्व खतरे में है।हिंदुत्व नहीं, इनकी सत्ता खतरे में है:- कन्हैया कुमार के स्टेटमेंट में थोड़ा अमेड मेन्ट करके प्रेजेंट करके लेट हो रहा हूँhomepage_panel
          Reply

          सबरंग