ताज़ा खबर
 

पंचायत चुनाव: ममता बनर्जी का हिंदूवादी कार्ड! चुनाव से पहले हर परिवार को तोहफे में मिलेगी गाय

सरकार का कहना है कि अगले साल के शुरुआती महीनों में ग्रामीण परिवारों तक गाय वितरण का काम पूरा कर लिया जाएगा।
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतिकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस और ट्विटर फोटो)

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव से पहले सरकार ने उन ग्रामीण इलाकों में हर परिवार को एक गाय देने का ऐलान किया है जहां अगले साल चुनाव होने हैं। मामले में पशु संसाधन विकास मंत्री स्वापन देबनाथ ने कहा, ‘सरकार की इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों के परिवारों को आत्म निर्भर बनने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही राज्य में दुग्ध उत्पादन में बड़े पैमाने पर बढ़ोतरी होगी।’ देबनाथ ने पीटीआई को बताया, ‘ग्रामीण परिवारों में गाय वितरण की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। जबकि अगले साल के शुरुआती महीनों में इस काम को पूरा कर लिया जाएगा।’

पशु संसाधन विकास मंत्री के अनुसार, राज्य सरकार जिले के उन परिवारों को गाय देगी जो पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं। हम उन परिवारों को आत्म-निर्भर बनाना चाहते हैं। उम्मीद करते हैं सरकार के इस कदम से राज्य में दुग्ध उत्पादन में भी बढ़ोतरी होगी। ग्रामीण क्षेत्रों के परिवारों में गाय या दुधारू जानवरों का बांटने की यही प्रमुख वजह है।

देबनाथ ने पीटीआई से आगे कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस के शासन में राज्य ने दुग्ध उत्पादन के मामले में रिकॉर्ड 16 फीसदी की बढ़ोतरी की है। पूर्व की लेफ्ट सरकार में ऐसी वृद्धि नहीं हुई।’

पूछे जाने पर की सरकार हिंदूवादी कार्ड खेलने या चुनाव को ध्यान में रखते हुए इस तरह का कदम उठा रही है? कहा, ‘ग्रामीण क्षेत्रों में पशु वितरण के फैसले को पंचायत चुनाव से जोड़कर बिल्कुल नहीं देखा जाना चाहिए। हमारी योजना के अनुसार एक परिवार को एक ही गाय दी जाएगी।’

खबरों के अनुसार राज्य सरकार पशु वितरण की शुरुआत सूबे के बीरभूम जिले से करेगी। जहां सरकार का शुरुआती टारगेट एक हजार गाय वितरण करने का होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Nov 15, 2017 at 4:37 pm
    ये एक बेहद शानदार फैंसला है, ममता बनर्जी सरकार का ! ग्रामीणों को गाय बांटने में "हिन्दू कार्ड" कहाँ से आ गया ! ये तो गरीबों की माली हालत सुधारने का matter है ! हिन्दोस्तान में शुद्ध दूध का मिलना, एक मृगतृष्णा हो गयी है, और हर जगह मिलावटी या केमिकलों से बनाया दूध मिल रहा है ! ऐसे में, यदि गाय बांटी जाती है, तो गरीब परिवारों को भी शुद्ध दूध मयस्सर हो सकेगा ! इसलिए पश्चिम बंगाल की हुकूमत का ये कदम , जनकल्याणकारी है और उनका economic upliftment भी करेगा ! इसका खैर मक़दम किया जाना चाहिए ! हिन्दोस्तान की दीगर सुबाई हुकूमतों को भी गरीबों की माली हालत सुधारने के लिए, ये तजवीज़ अ में लाना चाहिए !
    (1)(0)
    Reply