ताज़ा खबर
 

जादवपुर विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा की रहस्यमय मौत के मामले में पति और सास-ससुर गिरफ्तार

मीता मंडल की शादी छह माह पहले हावड़ा जिला के उलबेड़िया के कुशबेरिया निवासी राणा मंडल नामक एक युवक के साथ हुई थी।
Author कोलकाता | October 19, 2016 18:32 pm
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

जादवपुर विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा मीता मंडल की ससुराल में हुई रहस्यमय मौत के मामले में दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मंगलवार को सीआइडी की ओर से इस बारे में पत्रकारों को जानकारी दी गई। पति और ससुर तो पहले ही पकड़े गए थे, लेकिन सास और देवर फरार हो गए थे। पुलिस ने सास और देवर को भी गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही इस मामले में कुल मिलाकर चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मालूम हो कि मीता मंडल की मृत्यु के बाद सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोगों की ओर से नाराजगी जताते हुए दोषियों को सख्त सजा दिलाने के लिए लोगों ने जुलूस निकाला था। मुख्यमंत्री ने मौत के रहस्य से पर्दा उठाने के लिए सीआइडी को जांच के आदेश दिए और सीआइडी की विशेष टीम ने आदेश मिलते ही जांच शुरू कर दी है।  इससे पहले सोमवार को मीता के पिता व परिजनों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नवान्न में मुलाकात की। उनसे मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों को नहीं बक्शा जाएगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मृतका के बीमार पिता का सरकारी खर्चे पर इलाज व परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देने का आश्वासन दिया है।

गुवाहाटी: होटल के कमरे के अंदर सीसीटीवी मिला; 2 लोग पुलिस हिरासत में

मालूम हो कि गड़िया के शांति नगर निवासी एवं जादवपुर विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा मीता मंडल की शादी छह माह पहले हावड़ा जिला के उलबेड़िया के कुशबेरिया निवासी राणा मंडल नामक एक युवक के साथ हुई थी। गत मंगलवार तड़के मीता की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। मृतका के परिवार का आरोप है कि एक लाख रुपए की मांग पूरी नहीं करने पर बेटी की हत्या कर दी गई है। जबकि ससुराल पक्ष ने आत्महत्या करने का आरोप लगाया। पीड़ित परिवार की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने पति राणा मंडल और ससुर विजेंद्र मंडल को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद सोमवार देर रात मीता के देवर राहुल मंडल और मंगलवार की सुबह सास कल्पना मंडल को उलबेड़िया में एक रिश्तेदार के घर से पकड़ा गया।

मीता मंडल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले पर रस्सी का निशान पाया गया। साथ ही एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा है कि मेरे मौत के लिए कोई जिम्मेवार नहीं है। नीचे हस्ताक्षर के रूप में मीता मंडल लिखा है। इससे साफ है कि मीता की मौत फंदे पर लटकने से हुई है। मृतका के कंधे पर भी चोट के निशान पाए गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार मौत से पहले बचाव में मीता का किसी के साथ संघर्ष भी हुआ था। नाक और मुंह से खून भी निकला था। जानकारों की माने तो आत्महत्या वाली अवस्था में भी खून निकलने से इन्कार नहीं किया जा सकता। हालांकि अभी यह खुलासा नहीं हुआ है कि मीता ने आत्महत्या की है या उसकी हत्या हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.