ताज़ा खबर
 

राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी की बातों से आहत ममता बनर्जी, टीएमसी ने कहा- पश्चिम बंगाल का राजभवन बन चुका है आरएसएस शाखा

ममता बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, "वो (राज्यपाल) ऐसे बरताव कर रहे थे जैसे वो बीजेपी के ब्लॉक प्रमुख हों।"
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और पीएम नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी पर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपमानजनक भाषा में बात करने का आरोप लगाया है। ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि “राज्यपाल ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से फोन पर अस्वीकार्य भाषा में बात की। यह दुखद है कि पश्चिम बंगाल में राजभवन आरएसएस शाखा में बदल चुका है।” ब्रायन ने राज्यपाल के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए कहा, “संविधान की धारा 156 के अनुसार राष्ट्रपति राज्यपाल को पद से हटा सकता है, इस घटना के बाद राज्यपाल से पद छोड़ने के लिए कहने पर विचार किया जाना चाहिए।”

इससे पहले राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्यपाल त्रिपाठी पर तल्ख भाषा में बात करने का आरोप लगाया था। सीएम ममता के अनुसार राज्यपाल फोन पर उनसे राज्य के 24 परगना जिले में भड़की सांप्रदायिक हिंसा के बारे में बात कर रहे थे। ममता बनर्जी, “उन्होंने (राज्यपाल) मुझे फोन पर धमकी दी। उन्होंने जिस तरह बीजेपी का पक्ष लेते हुए मुझसे बात की उससे मैं अपमानित हुई। मैंने उनसे कहा कि आप मुझसे ऐसे बात नहीं कर सकते।” ममता ने मीडिया वार्ता में ये बातें कहीं। ममता ने पत्रकारों से कहा, “वो (राज्यपाल) ऐसे बरताव कर रहे थे जैसे वो बीजेपी के ब्लॉक प्रमुख हों। उन्हें ये समझना चाहिए कि वो इस पद पर नामित हैं….।”

सीएम ममता ने कहा, “वो कानून व्यवस्था पर बड़ी बातें कर रहे थे। मैं यहां किसी की दवा पर नहीं हूं। उन्होंने मुझसे जैसे बात की एक बार मुझे लगा कि मैं कुर्सी छोड़ दूं।” सोमवार (तीन जुलाई) को एक फेसबुक पोस्ट को लेकर हुआ विवाद सांप्रदायिक दंगे में बदल गया। घटना के बाद कई दुकानों को में आग लगा दी गई और लूटपाट की गई। सोमवार रात को बदुरिया पुलिस थाने में भीड़ ने हमला कर दिया। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार 300 अर्ध-सैनिक बलों को इलाके में तैनात की गई।

राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने ममता बनर्जी और टीएमसी की प्रतिक्रिया पर कहा कि उन्होंने सीएम ममता से ऐसा कुछ नहीं कहा जो उन्हें धमकी या अपमान लगे। राज्यपाल त्रिपाठी ने कहा कि उन्होंने सीएम ममता से केवल शांति और कानून-व्यवस्था बहाली के लिए कहा था। राज्यपाल त्रिपाठी ने कहा कि वो सीएम द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा और लहजे से चकित हैं। राज्यपाल ने कहा कि उनके और सीएम के बीच हुई बातचीत गोपनीय है इसलिए किसी से उसे सार्वजनिक करने की उम्मीद नहीं की जाती।

वीडियो- सिक्किम स्थित भारत-चीन सीमा पर जारी है तनाव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग