ताज़ा खबर
 

बंगाल: जंगल से भटक कर आए हाथियों ने बाजार में मचाई तोड़फोड़, दहशत में लोग

तमाम कोशिशों के बावजूद पुलिस और वन विभाग के कर्मचारी हाथियों को वापस जंगल की ओर ले जाने में नाकाम साबित हो रहे हैं।
Author कोलकाता | October 19, 2016 18:08 pm
(file photo)

बर्दवान जिले के दलमा जंगल से भटक कर आए आधा दर्जन हाथियों के बीते कई दिनों से रानीगंज-जामुड़िया अंचल में विचरण करने से लोगों की दहशत बढ़ती जा रही है। तमाम कोशिशों के बावजूद पुलिस और वन विभाग के कर्मचारी हाथियों को वापस जंगल की ओर ले जाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। हाल में दो हाथियों ने रानीगंज शहर में घुस कर जम कर तांडव मचाया। हाथियों को खदेड़कर पुलिस बक्तानगर जंगल के पास ले गई है। बताया जाता है कि चार दिन पहले छह हाथियों का एक भटक कर दामोदर नदी पार कर रानीगंज थाना के निमचा इलाके में जा पहुंचा। इस इलाके में हाथियों ने दो दिन तक तांडव मचाया और कई दुकानों को क्षति पहुंचाई। पिछले दो दिन से हाथियों का दल जामुड़िया थाना क्षेत्र के धूपचूड़ियां, तपसी इलाके में घूमता रहा और खेतों को नुकसान पहुंचाया।

हाथियों के दो दल मंगलपुर होते हुए रानीगंज के शहरी इलाके में घुस गए। हाथियों ने यहां भगत पाड़ा के स्थित बिचाली घर व चक्की को नुकसान पहुंचाया। टीडीबी कालेज के मुख्यद्वार पर आकर काफी देर तक तांडव मचाया। उस दौरान शालडांगा महावीर अखाड़ा के लोग यहां जमा थे। उन लोगों ने यहां से हाथियों को खदेड़ दिया। यहां से हाथी कालेज रोड होते हुए खारशुली बाजार पहुंचे औरचावल गोदाम के शटर गेट को तोड़ दिया। हाथी लगभग आठ बोरा चावल खा गए। इसके बाद समीप के गोदाम में तोड़फोड़ की।

गुवाहाटी: होटल के कमरे के अंदर सीसीटीवी मिला; 2 लोग पुलिस हिरासत में

यहां से दोनों हाथी तार बंगला पहुंचे और तार बंगला मैदान में खड़े एक चार पहिया वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथियों के तांडव से परेशान स्थानीय लोगों व पुलिस ने हाथियों को खदेड़ा, जिसके बाद दोनों हाथी बड़ा बाजार होते हुए तिलक रोड, कुमार बाजार होते हुए बक्तानगर जंगल की ओर चले गए। हाथियों ने खेत की फसल को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि पके धान के खेत में घुसकर दोनों हाथी घंटों तांडव करते रहे। वर्तमान में दोनों हाथी बक्तानगर के जंगल इलाके में विचरण कर रहे हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 19, 2016 6:07 pm

  1. No Comments.
सबरंग