ताज़ा खबर
 

बंगाल में फिर सांप्रदायिक तनाव, ममता बनर्जी ने बीजेपी पर बोला हमला

पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में स्थित मोतीहारी में भीड़ द्वारा पुलिस पर पथराव करने और पुलिस स्टेशन के पास कई घंटों तक रोड़ जाम करने के बाद वहां सेना लगानी पड़ी है।
Author August 9, 2017 23:08 pm
बीजेपी के खिलाफ ममता का आंदोलन

पश्चिम बंगाल रह रहकर हो रही सांप्रदायिक हिंसा में मंगलवार को फिल चिंगारी भड़क गई। पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में स्थित मोतीहारी में भीड़ द्वारा पुलिस पर पथराव करने और पुलिस स्टेशन के पास कई घंटों तक रोड़ जाम करने के बाद वहां सेना लगानी पड़ी है। भीड़ की मांग है कि ट्रेक्टर चालक को पीटने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाए। ट्रेक्टर चालक पर एक युवती को भगाने का आरोप है। घटना के सांप्रदायिक रुख लेने के बाद लोकल पुलिस ने धारा 144 लागू कर दी और मोतीहारी के पास माइक से लोगों को शांत रहने की अपील की जिले में रेपिड एक्शन फोर्स लगा दी गई है। शहर के स्कूल बुधवार को बंद भी रखे गए।

इस घटना पर ममता बनर्जी ने बीजेपी पर हमला बोला है। ममता ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि,” वो सड़क पर हाथियार लेकर आएंगे। अगर ऐसी कोई घटना हुई है तो वो कहेंगे कि ड्राइवर मुस्लिम था और विक्टिम हिन्दू। तो आओ मुस्लिम ड्राइवर के घर में आग लगा दो। वो ये सब क्या कर रहे हैं।” मोतीहारी मालदा से 30 किलोमीटर पर पड़ती है। पहले ये इलाका कालीचक पुलिस स्टेशन में पड़ता था अब यहां पर अलग से स्टेशन बनाया गया है।

इससे अलग ममता ने बनर्जी ने भाजपा और माकपा पर दार्जिंिलग की पहाड़ियों में अशांति फैलाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कभी बंगाल का बंटवारा नहीं होने देगी।  ममता ने अपने रुख को एक बार फिर से दोहराते हुए कहा, ‘‘भाजपा देश और हमारे समाज को बांटना चाहती है। वे पहाड़ियों में ंिहसा और अशांति फैलाना चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दार्जिलिंग, तराई और दुआर हमारे गौरव रहे हैं। वे बंगाल के विभाजन की कोशिश कर रहे हैं। हम कभी भी विभाजन नहीं होने देंगे।’’ उन्होंने माकपा पर दार्जिंिलग पहाड़ियों को लेकर ‘दोहरा मापदंड’ अपनाने का आरोप लगाया और इसकी आलोचना की।

उन्होंने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर भाजपा और माकपा में फर्क नहीं है।’’ ममता ने कहा, ‘‘पहाड़ी इलाके में जाकर माकपा बंगाल के विभाजन की बात करती है और मैदानी इलाकों में (चर्चा से) बहिर्गमन करते हैं। ये उनकी दोहरी चाल है।’’ गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कल राज्य विधानसभा में कहा था कि दार्जिंिलग पश्चिम बंगाल का हिस्सा रहा है और वह इसका विभाजन नहीं होने देंगी।’’ दार्जिंिलग में ‘अघोषित बंद’के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग