January 19, 2017

ताज़ा खबर

 

65 वर्षीय महिला को 75 वर्षीय पति पर हुआ शक़, मिले बेवफाई के सबूत तो पैसा देकर कहा- हड्डियां तोड़ दो

पिटाई के लिए पैसा देते समय महिला ने यह शर्त भी रखी कि उसके पति की जान को कोई खतरा नहीं पहुंचना चाहिए।

फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल में एक 65 वर्षीय महिला द्वारा अपने 75 वर्षीय पति की “हड्डियां तुड़वाने” के लिए एक निजी एजेंसी को पैसे देने का मामला सामने आया है। महिला कथित तौर पर अपने पति को “सबक सिखाना” चाहती थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार महिला ने एजेंसी के लौडन स्ट्रीट स्थित एजेंसी के दफ्तर में मौजूद कर्मचारियों से कहा कि उसका पति उससे “बेवफाई” कर रहा है। एजेंसी के कर्मचारियों को महिला की उम्र देखकर लगा कि या तो वो झूठ बोल रही है या उसकी मानसिक हालत सही नहीं है लेकिन जब महिला ने अपनी कहानी उन्हें विस्तार से सुनाई तो वो जांच के लिए तैयार हो गए। और जब एजेंसी के कर्मचारियों ने जांच की तो पाया कि महिला का पति सचमुच उसे धोखा दे रहा था। महिला के पति का उसके एक सहकर्मी की पत्नी से संबंध था। एजेंसी की जांच के बाद महिला महिला नोटों के बंडल के साथ पहुंची और कहा कि वो उसका पति की “हड्डियां तोड़ दें।” महिला एजेंसी में 50 हजार रुपये लेकर गई थी।

वीडियो: चश्मदीदों ने बताया हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक – 

एजेंसी को कई दिन तक चली जांच के बाद पता चला कि महिला का पति हर रोज एक खास वक्त पर अपनी खिड़की के नीचे खड़ा हो जाता था और उसी समय महिला घर के दरवाजे पर आ जाती थी। दोनों के बीच इशारों इशारों में कुछ बात होती थी और उसके बाद पुरुष उससे कहता था कि वो घूमने जा रहा है। एजेंसियों के कर्मचारियों ने पाया कि पुरुष घूमने के बहाने लोकल ट्रेन पकड़कर ‘गरिया’ जाता था, जहां वो एक महिला के घर पर समय बिताता था। एजेंसी के अनुसार पुरुष अपनी पेंशन का एक हिस्सा भी गरिया में रहने वाली महिला को देता था। महिला ने एजेंसी के कर्मचारियों से कहा कि वो उसके पति की पिटाई कर दें। हालांकि महिला ने यह शर्त भी रखी कि उसके पति की जान को कोई खतरा नहीं पहुंचना चाहिए। हालांकि एजेंसी ने महिला के पति की पिटाई नहीं की और उसे अपने पति को मनोवैज्ञानिक सलाह दिलवाने की राय दी।

Read Also: रूस के बाद जर्मनी ने भी किया पीओके में भारत की सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 5:41 pm

सबरंग