ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल:अभी भी 22 फीसद लोग निरक्षर

मंत्री ने कहा कि साक्षरता की दर को बढ़ाने के लिए तृणमूल सरकार जोर-शोर से जुटी हुई है।
Author कोलकाता | September 7, 2016 06:26 am
प्रतीकात्मक तस्वीर।

पश्चिम बंगाल के जन शिक्षा व पुस्तकालय राज्यमंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी ने इस बात को माना है कि पश्चिम बंगाल में 22 फीसद लोग अभी भी निरक्षर हैं। साक्षरता दिवस की स्वर्ण जयंती से पहले कोलकाता प्रेस क्लब में पत्रकारों को संबोधित करते हुए चौधरी ने कहा कि वर्ष 2011 की जनगणना के हिसाब से केंद्र सरकार ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में 22 फीसद लोग निरक्षर या अशिक्षित हैं। उन्होंने कहा कि बंगाल के नौ जिले में पढ़े-लिखे लोगों की संख्या बेहद कम है। इन जिलों में मुर्शिदाबाद, बीरभूम, पुरुलिया, बांकुड़ा, कूचबिहार, जलपाईगुड़ी, उत्तर व दक्षिण दिनाजपुर, मालदा आदि शामिल हैं। मंत्री ने कहा कि साक्षरता की दर को बढ़ाने के लिए तृणमूल सरकार जोर-शोर से जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि अकेले मुर्शिदाबाद जिले में इसी साल करीब ढाई लाख महिलाओं समेत पुरुषों को साक्षर बनाया गया।

चौधरी ने कहा कि आठ सितंबर को अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के स्वर्ण जयंती उत्सव का आयोजन कोलकाता के रवींद्र सदन प्रेक्षागृह में किया गया है। इस दिन दोपहर 12 बजे यह कार्यक्रम शुरू होगा, जिसमें राज्य के पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी, पर्यटन मंत्री ब्रात्य बसु समेत कई मंत्री रहेंगे। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम से पूर्व सुबह दस बजे मेयो रोड स्थित गांधी मूर्ति के पास से एक स्कूली छात्र-छात्राओं की एक रैली निकलेगी, जो कई रास्तों की परिक्रमा करते हुए सुबह 11 बजे रवींद्र सदन पहुंचेगी। इस शिक्षा रैली में करीब एक हजार स्कूली छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। इसके बाद मूल कार्यक्रम रवींद्र सदन प्रेक्षागृह में शुरू होगा। इस प्रेस कांफ्रेंस में राज्य जन शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव मनीष जैन, दीनबंधु भट््टाचार्य व निदेशक अर्पिता बसु समेत कई पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग