ताज़ा खबर
 

चलती ट्रेन से सेल्फी लेना 5 दोस्तों को पड़ा भारी, 1 को बचाने में गई बाकी 4 की भी जान

पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये पांचों दोस्त ताराकेश्वर मंदिर से दर्शन करके घर लौट रहे थे।
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

सेल्फी का क्रेज लोगों में इतना है कि वे सेल्फी लेने के लिए नए-नए तरीके निकालते हैं। कई बार तो सेल्फी लेने के चक्कर में लोगो की जान तक चली जाती है। ऐसा ही एक मामला कोलकाता में देखने को मिला जहां पर चलती ट्रेन से सेल्फी लेने के चक्कर में चार लड़कों ने अपनी जान से हाथ धो बैठा। गुरुवार की शाम अप बांदेल लोकल ट्रेन में ये लड़के सफर कर रहे थे। इन सभी की उम्र 25 से 30 साल है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पांचों बाहरी कोलकाता के दमदम के निवासी है। इनमें से कुछ कंपनी में काम करते थे और बाकी ऑटोरिक्शा चालक थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तारकनाथ माकल गेट के पास जाकर खड़ा हो गया और अपने दोस्तों के साथ सेल्फी लेने लगा। सेल्फी लेने के दौरान उसका संतुलन बिगड़ गया और वह ट्रेन से नीच गिर गया। इसके बाद माकल को बचाने के लिए उसके दोस्त चलती ट्रेन से कूद पड़े। उन्हें दूसरी तरफ से आती हुई ट्रेन दिखाई नही पड़ी और वे उसकी चपेट में आ गए। इस हादसे में माकल के दोस्त सुमित कुमार, संजीव पोली, काजल शाहा और चंदन पोली की मौके पर ही मौत हो गई।

यह हादसा हावड़ा के पास लिलुहा और बेलूर स्टेशन के बीच हुआ। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस हादसे में घायल माकल को पुलिस ने पास के अस्पताल में भर्ती कराया जहां पर वह जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये पांचों दोस्त ताराकेश्वर मंदिर से दर्शन करके घर लौट रहे थे। चश्मदीदों ने पुलिस को बताया कि माकल के ये दोस्त दूसरी ट्रेन को इसलिए नहीं देख पाए क्योंकि वहां पर पर्याप्त रोशनी नहीं थी। जैसे ही ट्रेन से माकल गिरा वैसे ही उसके दोस्त पटरी पर कूद पड़े और माकल की तरफ भागने लगा, कि तभी दूसरी ट्रेन ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया।

देखिए वीडियो - कोलकाता: होटल में आग लगने से 2 लोगों की मौत, कर्मचारियों समेत 30 को बचाया गया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग