ताज़ा खबर
 

नहीं सह सकी 30 वोट से हार का सदमा, युवा महिला नेता ने कर ली खुदकुशी

सुप्रीया के पति समीर डे ने बताया कि हार के बाद कुछ लोगों ने सुप्रीया को ताना मारना शुरु कर दिया था, जो वह सह नहीं पाई।
Author कोलकाता | August 18, 2017 11:09 am
सुप्रीया को पूरा विश्वास था कि वह जरुर जीतेगी लेकिन वह महज 30 वोट से हार गईं।

पश्चिम बंगाल में नगर निगम चुनावों में मिली हार के बाद एक निर्दलीय पार्षद उम्मीदवार ने खुदकुशी कर ली। यह हार वह सह नहीं पाई और उसने अपनी जिंदगी खत्म कर ली। इस महिला नेता का नाम सुप्रीय डे है। यह घटना नाडिया के कूपर्स कैंप टाउन वार्ड न. 1 की है। 38 वर्षीय सुप्रीया को तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार ने महज 30 वोट से हराया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जैसे ही गुरुवार को नतीजे घोषित हुए सुप्रीया अपने घर के एक कमरे में चली गईं। सुप्रीया ने कमरा अंदर से बंद कर लिया और इसके बाद उसने 40 नींद की गोलियां खा लीं। जब काफी देर तक सुप्रीया ने दरवाजा नहीं खोला तो उसके परिवार वाले उसके कमरे में गए जहां पर उन्हें सुप्रीया के शरीर के पास से खाली नींद की गोलियों का पैकेट मिला।

इसके बाद सुप्रीया को कल्यानी स्थित जवाहरलाल नेहरु मेमोरियल अस्पताल ले जाया गया जहां पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। सुप्रीया इस तिरस्कार को बर्दाश्त नहीं कर पाई। उसने इन चुनावों में अपने दिल और आत्मा से मेहनत के साथ कैंपेन में काम किया था। सुप्रीया को पूरा विश्वास था कि वह जरुर जीतेगी लेकिन वह महज 30 वोट से हार गईं। सुप्रीया के पति समीर डे ने बताया कि हार के बाद कुछ लोगों ने सुप्रीया को ताना मारना शुरु कर दिया था, जो वह सह नहीं पाई।

फिलहाल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।  नाडिया पुलिस थाने के एसपी शीश राम झाझरिया ने मामले की जानकारी देते हुए कहा प्रारंभिक जांच में हम इसे असाधारण मौत नहीं मार रहे हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही इस मौत के पीछे का कारण पता चल पाएगा। आपको बता दें कि सुप्रीया पिछले दो टर्म से वार्ड 1 की पार्षद थीं। वैसे तो वे कांग्रेस से थीं लेकिन 2013 में उन्होंने तृणमूल ज्वाइन कर ली थी। सुप्रीया को जब पार्टी से टिकट नहीं मिला थो उन्होंने पार्टी का दामन छोड़ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप चुनाव का पर्चा भरा।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग