ताज़ा खबर
 

देश के खिलाफ भड़काऊ टिप्पणी करने वाले बरकती इमाम पद से बर्खास्त, नरेंद्र मोदी के खिलाफ जारी किया था फतवा

शाह ने कहा था कि बरकती पर यह भी आरोप लगे हैं कि उन्होंने अपने निजी कामों और अपने बिजनेस के लिए मस्जिद परिसर का गलत रूप से इस्तेमाल किया है।
मौलाना बरकती को टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम के पद से हटा दिया गया है। (File photo)

इमाम नूर उर रहमान बरकती को आज यानी बुधवार को देश के खिलाफ आपत्तिजनक और भड़काऊ टिप्पणी करने के कारण टीपू सुल्तान मस्जिद के इमाम पद से बर्खास्त कर दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सरकारी गाड़ियों से लाल बत्ती हटाए जाने के आदेश दिए जाने के बाद बरकती ने उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया था। मस्जिद बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के प्रमुख शाहज़ादा अनवर अली शाह ने कहा था कि हमारी अपने अधिवक्ताओं के साथ इस मामले में अंतिम चरण की बातचीत चल रही है। शाह ने कहा था कि बरकती के देश विरोधी बयान को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

बरकती ने हमारे समुदाय के साथ धोखा किया है और लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई  है। उनके बयान ने देश और समुदाय को नुकसान पहुंचाया है, जिसमें कि सचाई तो यह है कि वे आरएसएस जैसी ताकतों को बढ़ावा दे रहे हैं। शाह ने कहा था कि बरकती की ऐसी हरकतों को देखकर मस्जिद बोर्ड ने फैसला किया है कि उन्हें अब इमाम पद से हटा देना चाहिए। शाह ने कहा था कि बरकती पर यह भी आरोप लगे हैं कि उन्होंने अपने निजी कामों और अपने बिजनेस के लिए मस्जिद परिसर का गलत रूप से इस्तेमाल किया है।

आपको बता दें कि बरकती को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी का करीबी माना जाता है। बरकती को कई बार तृणमूल कांग्रेस की रैलियों में भी देखा गया है। लाल बत्ती के मुद्दे पर बरकती ने यह भी कहा था कि बत्ती न हटाने के लिए उनसे ममता बेनर्जी ने ही कहा था। वहीं विवाद को बढ़ता देख बरकती ने लाल बत्ती अपनी गाड़ी से हटा ली थी। बता दें कि बरकती ने अपनी गाड़ी से लाल बत्ती हटाने के लिए यह कहकर मना कर दिया था कि वह एक धार्मिक नेता हैं और वह कई दशकों से लाल बत्ती का इस्तेमाल कर रहे हैं।

देखिए वीडियो - मोदी सरकार के आदेश के बाद बीजेपी नेताओं ने हटाई अपनी गाड़ियों से लाल बत्ती

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Ajit Rajput
    May 18, 2017 at 11:15 am
    जिस तरह से अब ये बोल रहे है की मुझे ममताजी ने कहने के लिए बोलै था. इस तरह आपके लोगो का भी बाकि राजनितिक पार्टियां फायदा उठा रही है. आप लोग वोटबैंक के अलावा कुछ नहीं हो ये समझो. दूसरा मुद्दा ये है के जब तक आप लोगो को मुफ्त सुविधा मिलती है तो सब ठीक लगता है, जैसे ही उसमे कटौती या बंद करते है तो आप लोग सरकार और सिस्टम को दोष और गलियां देने लगते हो. आप चाहे जो कुछ बोले सब ठीक है पर जब आप के लिए कुछ कहा जाये तो सेकुलरिज्म याद आने लगता है आपको. आप लोग मतलबी तरीके से रहते हो और सिर्फ अपना सोचते हो देश गया भाड़ में. तर्रकी अमन से कोई लेना देना है. बहुत काम लोग समझदार है आपके यहाँ. चलो कुछ लोगो ने आपकी खिलाफ कुछ निर्णय तो लिया.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग