March 24, 2017

ताज़ा खबर

 

नारद स्टिंग: टीएमसी नेताओं के खिलाफ सीबीआई करेगी जांच, कलकत्‍ता हाईकोर्ट ने कहा- 24 घंटे में सौंपो दस्‍तावेज

पश्चिम बंगाल में वर्ष 2016 विधानसभा चुनाव से पहले नारद स्टिंग के टेप विभिन्न समाचार संगठनों को जारी किए गए थे। इसमें कुछ नेता कथित तौर पर घूस लेते दिखाई दिए थे।

Author March 17, 2017 15:27 pm
पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी टीएमसी के कई नेता नारद स्टिंग में फंसे थे. (तस्वीर मैथ्यु सैमुअल के फेसबुक से)

कलकत्ता हाई कोर्ट ने नारद स्टिंग मामले में शुक्रवार को सीबीआई को प्रारंभिक जांच के आदेश दिए हैं। इसमें तृणमूल कांग्रेस के कई नेता कथित तौर पर घूस लेते नजर आए थे। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश निशिता म्हात्रे और न्यायमूर्ति टी चक्रवर्ती की खंडपीठ ने सीबीआई को 24 घंटे के भीतर स्टिंग ऑपरेशन से संबंधित सभी सामग्री और उपकरण अपने कब्जे में लेने और 72 घंटे के भीतर प्रारंभिक जांच को निष्कर्ष पर पहुंचाने के निर्देश दिए। अदालत ने कहा कि प्रारंभिक जांच पूरी होने के बाद जरूरत पड़ने पर सीबीआई प्राथमिकी दर्ज करे और उसके बाद औपचारिक जांच शुरू करे।

पश्चिम बंगाल में वर्ष 2016 विधानसभा चुनाव से पहले नारद स्टिंग के टेप विभिन्न समाचार संगठनों को जारी किए गए थे। इसमें कुछ नेता कथित तौर पर घूस लेते दिखाई दिए थे। खंडपीठ ने सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी, चंडीगढ़ की उस रिपोर्ट पर गौर किया जिसमें कहा गया था कि इन टेपों के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है। नारद न्यूज के संपादक मैथ्यू सैम्यूल ने अदालत को बताया कि रिकॉर्डिंग आईफोन की मदद से की गई और उसे लैपटॉप में डाला गया जहां से उसे एक पेन ड्राइव में लिया गया।

हाई कोर्ट द्वारा गठित एक समिति ने इन सभी उपकरणों को कब्जे में ले लिया। अदालत ने कहा कि जिन लोगों पर आरोप लगे हैं, वे मंत्री, सांसद और राज्य के अन्य वरिष्ठ नेता हैं, इसलिए यह उचित होगा कि प्रारंभिक जांच की जिम्मेदारी राज्य की किसी एजेंसी की बजाय सीबीआई को सौंपी जाए। कोर्ट ने कहा कि मामले की स्वतंत्र जांच के लिए सीबीआई सबसे उपयुक्त एजेंसी है। स्टिंग टेपों की विश्वसनीयता के परीक्षण के बाद इनकी स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए हाई कोर्ट में तीन याचिकाएं दायर की गईं थीं।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से ठीक पहले इस विवादास्पद नारद स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं और एक आईपीएस अधिकारी को धन स्वीकारते दिखाया गया था। बनर्जी ने 17 जून को कोलकाता पुलिस को इस नारद स्टिंग ऑपरेशन की जांच का आदेश दिया था और जोर देकर कहा था कि उनकी पार्टी ने सारदा चिटफंड घोटाले और नारद स्टिंग ऑपरेशन में शामिल किसी से ‘एक भी पाई’ नहीं ली थी।

देखिए वीडियो - पश्चिम बंगाल: सांसद की गिरफ्तारी के बाद फूटा तृणमूल कार्यकर्ताओं का गुस्सा, तीन घटनाएं आई सामने

ये वीडियो भी देखिए - पश्चिम बंगाल: बाल तस्करी के मामले में बीजेपी की महिला नेता गिरफ्तार, कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली का भी आया नाम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 17, 2017 3:27 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग