ताज़ा खबर
 

बंगाल दंगा: मुस्लिम नेता बोले- बीजेपी, आरएसएस की मौजूदगी के साथ बढ़ रही मुसलमानों के खिलाफ हिंसा, पुलिस पर भी उठाई अंगुली

ऑल इंडिया सुन्नत अल जमायत के अध्यक्ष अब्दुल मातीन ने कहा कि इस इलाके में पहले कभी भी आरएसएस सक्रिय नहीं था लेकिन अब बीजेपी और आरएसएस की मौजूदी इलाके में बढ़ती जा रही है।
Author बशीरहाट | July 7, 2017 13:00 pm
पश्चिम बंगाल में हिंसा के बाद की तस्वीर। (Photo Source: PTI)

पश्चिम बंगाल कई  इलाकों में गुरुवार (6 जुलाई) को हिंसा भड़कने के बाद मुस्लिम नेताओं ने बीजीपी और आरएसएस पर निशाना साधा है। मुस्लिम नेताओं का कहना है कि बीजेपी और आरएसएस की मौजूदगी में मुस्लिमों के खिलाफ देश में हिंसा बढ़ रही हैं। इसके साथ ही नेताओं ने पुलिस को भी घेरते हुए कहा कि पुलिस भी कुछ नहीं करती है। अगर उनसे शिकायत की जाती है तो वे हमें ही गिरफ्तार कर लेते हैं। एक स्थानीय मुस्लिम नेता ने कहा कि कई सालों से दोनों समुदाय एक साथ रह रहे थे लेकिन कुछ समय से दोनों में काफी तनाव बढ़ गया है। ऑल इंडिया सुन्नत अल जमायत के अध्यक्ष अब्दुल मातीन ने कहा कि इन इलाकों में पहले कभी भी आरएसएस सक्रिय नहीं हुआ था लेकिन अब बीजेपी और आरएसएस की मौजूदी इलाकों में बढ़ती जा रही है। यही कारण है कि राज्य और देश में मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा बढ़ रही है। इन लोगों की वजह से देश का मुसलमान खुद को असुरक्षित महसूस करता है।

वहीं आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगा है कि उन्होंने मुस्लिमों को अपना निशाना बनाया है। इन कार्यकर्ताओं के खिलाफ आगजनी के अलावा मुसलमानों के घर में तोड़फोड़ करने के 68 केस दर्ज हैं। बदुरिया समेत पश्चिम बंगाल में ऐसे कई इलाके हैं जहां पर काफी संख्या में मुस्लिम आबादी रहती है। दिन प्रतिदिन इन इलाकों में मुस्लिमों की संख्या बढ़ती जा रही है क्योंकि बांग्लादेश से आकर लोग यहां बस रहे हैं। गुरुवार को करीब 8 बांग्लादेशियों को स्थानीय लोगों ने पकड़कर बीएसएफ के हवाले किया था। इन लोगों के पास से हथियार भी बरामद किए गए थे। वहीं दूसरी ओर बशीरहाट के आरएसएस कार्यकर्ता सुभाष चंद्र नाथ पर आरोप है कि वे बम और हथियार ले जाने के लिए एक एंबुलेंस का इस्तेमाल कर रहे थे।

आपको बता दें कि सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर एक विविदित पोस्ट के बाद दो समुदायों में झड़प हो गई थी। इसमें एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हुआ जिसकी अस्पताल मे इलाज के दौरान मौत हो गई। आक्रोशित भीड़ ने मंगलवार को बदुरिया, बशीरहाट, हरोआ, स्वरूपनगर और देगंगा में हिंसा की। इन इलाकों में धारा 144 लगाई गई है। गुरुवार को, पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया, जिसमें कई लोग घायल हुए हैं।

देखिए दंगे की आग में जल रहे पश्चिम बंगाल के बशीरहाट की तस्वीरें

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. T
    Trilochan
    Jul 7, 2017 at 9:15 am
    : naisadak /where-there-is-a-crowd-hitlers-germany-appears/ कृपया इस लेख को पढ़े और शेयर करे ता की लोग एक दूसरे के बारें में जाने और अपनी दुश्मनों को पहचाने
    (0)(0)
    Reply
    1. V
      Vasu
      Jul 7, 2017 at 9:11 am
      हम उन्हें बताना चाहेंगे सिर्फ बंगाल में ही नहीं और भी जगह जहाँ पर भी लोगों पर अत्याचार या ज़ुल्म हो रहा है हम सबको मालूम है ये सब किसके इशारे पर हो रहा है .देश में कुछ लोग इसके खिलाफ बोल रहे है मगर ज्यादा तर लोग खामोश है .क्यों की उन्हें लगता है बोलने से उनका उस देश में रहना मुश्किल हो जायेगा .शायद उनका डर जाएज़ है मगर अभी अगर हम सब चुप रहते है और सोचते है जो हो रहा है वो ी है ,कश्मीर में हिन्दुओं के साथ हुआ था तो यहाँ मुस्लिमों के साथ क्यों नहीं तो हम उन्हें एहि कहेंगे वहां जो हुआ था वो गलत था और यहाँ जो हो रहा है वह भी गलत ही है .दो गलत कभी एक ी नहीं हो सकता .सत्ता की कुर्सी पर बैठकर जो आज ों जैसा वर्ताव कर रहा है आज नहीं तो कल उन्हें भी जाना पड़ेगा और शायद फिर कभी लौटने का मौका न मिले .जिस तरह वाजपेयी जी को लोगों ने याद रखा उसी तरह इन्हे याद नहीं करेंगे लोग .आज हम सभी इस दुर्जन का शिकार है .कोई इस तरह तो कोई उस तरह .कोशिश कीजिये के हिंसा कहीं फिर से हमे बिभक्त न कर दे .
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        suresh k
        Jul 7, 2017 at 9:10 am
        पूरी दुनिया में जहा भी मुसलमान बहुसंख्या में है दुसरे समुदाय के लिए खतरा बन जाते है , भारत के समस्त लोगो को यह समझ लेना चाहिए के जो कश्मीरी पंडितो के साथ हुआ वह पूरे देश में कही भी हो सकता है . जो भी कश्मीर में मुसलमानो का पच्छ ले समझ लो वो देशद्रोही है . उसको पाकिस्तान चले जाना चाहिए .
        (0)(0)
        Reply