May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

पश्चिम बंगाल के सात नगर निकायों में वोटिंग शुरू, ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी पर सबकी नजरें

दार्जिलिंग जिले में तृणमूल तथा जीएनएलएफ गठबंधन और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम-भाजपा) गठबंधन के बीच सीधा मुकाबला है। रविवार को हो रहे चुनाव यह फैसला करेगा कि पर्वतीय क्षेत्र पर कौन राज करेगा।

Author कोलकाता | May 14, 2017 10:29 am
पश्चिम बंगाल में सात नगर निकायों में मतदान शुरू। (ANI Photo)

पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग की चार नगर निकाय सहित पश्चिम बंगाल में सात नगर निकायों के लिए रविवार को मतदान हो रहे हैं। मतदान को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। जिन सात नगर निकायों में चुनाव हो रहे हैं उनमें पर्वतीय क्षेत्र के दार्जिलिंग, कुर्सियांग, कलिम्पोंग, मिरीक अधिसूचित क्षेत्र प्राधिकरण के अलावा मुर्शिदाबाद का डोमकल, दक्षिण 24 परगना का पुजाली और उत्तर दिनापुर का रायगंज शामिल है। विपक्ष ने सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर बाहुबल की रणनीति अपनाने का आरोप लगाते हुए निष्पक्ष चुनाव की मांग की। रविवार को शुरू हुए निकाय चुनाव को 2018 में होने वाले पंचायत चुनाव और उसके अगले साल (2019) के आम चुनाव से पहले जमीन तैयार करने के रूप में देखा जा रहा है।

दार्जिलिंग जिले में तृणमूल तथा जीएनएलएफ गठबंधन और  गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम-भाजपा) गठबंधन के बीच सीधा मुकाबला है। रविवार को हो रहे चुनाव यह फैसला करेगा कि पर्वतीय क्षेत्र पर कौन राज करेगा। यह पिछले एक दशक से जीजेएम का गढ़ है। जीजेएम तृणमूल कांग्रेस पर अपने नेताओं की खरीद फरोख्त करने और अपने खिलाफ झूठी और बेबुनियाद खबरें फैलाने का आरोप लगा रही है। जीजेएम प्रमुख बिमल गुरूंग ने एक चुनाव अभियान के दौरान कहा है, ‘‘टीएमसी गोरखालैंड से जुड़े हितों को कम करके आंकने की कोशिश कर रही है जिसके लिए हम लड़ रहे हैं। टीएमसी जीजेएम के बारे में झूठी और बेबुनियाद खबरें फैला रही है कि हमने पर्वत के विकास के लिए कुछ नहीं किया। टीएमसी की विभाजनकारी राजनीति पर्वतीय क्षेत्र में काम नहीं करेगी।’’

राज्य के मंत्री और पर्वतीय क्षेत्र के प्रभारी अरूप विश्वास ने जीजेएम के आरोपों से इनकार किया। विश्वास ने कहा, ‘आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। तथ्य यह है कि जीजेएम पर्वत में तानाशाही चला रही है और लोगों ने इसके खिलाफ बगावत करनी शुरू कर दी है। पर्वत के लोगों ने ममता बनर्जी को अपने अविवादित नेता के तौर पर स्वीकार कर लिया है और इसलिए जीजेएम ये आधारहीन आरोप लगा रही है।’ वहीं डोमकल चुनाव में मुकाबला टीएमसी और कांग्रेस-CPI गठबंधन के बीच है जबकि पुजाली और रायगंज में टीएमसी को CPI और कांग्रेस के अलावा बीजेपी से भी चुनौती मिलने की संभावना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 14, 2017 10:26 am

  1. No Comments.

सबरंग