December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

भारतीय सेना भी किसी से कम नहीं: नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यहां पड्डल मैदान में प्रदेश भाजपा की तरफ से आयोजित ‘परिवर्तन रैली’ में भारतीय सेना की जमकर तारीफ की।

Author मंडी (हिमाचल) | October 19, 2016 01:58 am

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यहां पड्डल मैदान में प्रदेश भाजपा की तरफ से आयोजित ‘परिवर्तन रैली’ में भारतीय सेना की जमकर तारीफ की। उन्होंने सेना के पराक्रम की तुलना इजराइल से की और कहा कि हमारी सेना दुनिया में किसी से कम नहीं है। इससे पहले मोदी ने प्रदेश की तीन बड़ी बिजली परियोजनाओं का यहां उद्घाटन किया।
उन्होंने कहा कि परमवीर चक्र हासिल करने में छोटा सा हिमाचल भी देश में सर ऊंचा करके खड़ा है। उन्होंने कहा कि ‘वन रैंक-वन पेंशन’ का वादा उन्होंने मंडी में ही लोकसभा चुनाव के दौरान किया था। इसे पूरा करने के लिए पांच हजार करोड़ रुपए की पहली किस्त जारी कर दी गई है। शेष तीन किस्तें भी शीघ्र ही पूर्व सैनिकों को अदा की जाएगी।
बड़ी तादाद में आए लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज सारा देश सेना के पराक्रम की चर्चा कर रहा है। पहले इजराइल की चर्चा होती थी, जो दूसरे देश में घुस कर दुश्मनों को मार गिराता है। लेकिन भारत की सेना भी किसी से कम नहीं है। सरहद पर पहरा दे रहे जवान सेवानिवृत्त सैनिकों की महान परंपरा का निर्वाह कर रहे हैं। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार हिमाचल आए। उन्होंने पड्डल में ही तीन पनबिजली परियोजनाओं की शुरुआत की। इस मौके पर हिमाचल के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, राज्यपाल देवव्रत, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा और पीयूष गोयल, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, सांसद शांता कुमार और अनुराग ठाकुर के अलावा अन्य नेता भी थे। इसके बाद प्रधानमंत्री ने पड्डल मैदान से परिवर्तन रैली को संबोधित किया जिसे हिमाचल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रचार अभियान का श्रीगणेश भी माना जा रहा है।


मोदी ने रैली में कहा, ‘यहां आने से पहले मैं सोच रहा था कि आप मुझसे नाराज होंगे क्योंकि मैंने यहां आने में थोड़ी देर कर दी, लेकिन यहां आकर आपके प्यार को देख कर मैं आप सबको सर झुका कर अभिनंदन करता हूं। आपका दिल हिमालय की तरह बड़ा और पवित्र है।’ बड़ी तादाद में देश की सेना को जवान देने वाले हिमाचल को ध्यान में रखते हुए मोदी ने सेना की तरफ से हाल में की गई सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र खास तौर पर किया। सेना की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हर तरह हमारी सेना के पराक्रम की चर्चा हो रही है, पहले इजराइल की चर्चा होती थी और आज भारतीय फौज की चर्चा हो रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने 40 साल से लटकी एक रैंक एक पेंशन को लागू करवाया। इसमें सेना की मदद हमने ली। हमने सेना के जवानों से इस पर चर्चा की और हमने कहा कि हम एक बार में नहीं दे पाएंगे। इस पर निर्णय हुआ कि इसका भुगतान चार किस्तों में किया जाएगा। हम एक किस्त दे भी चुके हैं। इस मामले को लेकर कई सालों तक राजनीति हुई और वे कुछ फंड इसके लिए लाए भी, लेकिन उन्हें जानकारी नहीं थी कि इसको लागू करने से कितने का आर्थिक बोझ आएगा, लेकिन हमने इसका समाधान निकाल लिया।
प्रधानमंत्री ने प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर भी निशाना साधा और कहा कि भाजपा के मुख्यमंत्रियों ने खुद को पेयजल और सड़कों जैसे मुद्दों के प्रति समर्पित किया, जबकि कांग्रेस नेता ने अपने खुद के कल्याण की चिंता की। उन्होंने कहा, ‘पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने पेयजल आपूर्ति योजना पर जोर दिया जिसके कारण उन्हें ‘पानीवाला मुख्यमंत्री’ के रूप में जाना जाता है।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘प्रेम कुमार धूमल ने ग्रामीण सड़क निर्माण कार्य पर ध्यान केंद्रीत किया और उन्हें ‘सड़कवाला मुख्यमंत्री’ कहा गया लेकिन अभी जो मुख्यमंत्री हैं, वे किस कारण से जाने जाते हैं। वे अपना हित साधने वाले हैं।’ मोदी ने कहा कि लोग मांग करेंगे कि वीरभद्र सरकार अपने काम का लेखा-जोखा प्रदान करे।
उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने दशकों से स्थगित पड़ी परियोजनाओं का क्रियान्वयन शुरू किया। मोदी ने व्यंग्य करते हुए कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि प्रधानमंत्री के रूप में उन्हें प्रधानमंत्री कार्यालय में एक ‘पुरातत्व विभाग’ चलाना पड़ेगा जो आधारशिला रखे जाने के बाद कभी शुरू नहीं हुईं बहुत पुरानी परियोजनाओं के ‘कंकालों’ की खुदाई करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 19, 2016 1:57 am

सबरंग