ताज़ा खबर
 

केरल: भाई-भतीजावाद पर सतर्कता ब्यूरो ने कानूनी सलाह मांगी

बड़े पदों पर सत्ताधारी माकपा के नेताओं के संबंधियों की नियुक्ति पर पैदा हुए विवाद के बीच सतर्कता व भ्रष्टाचार विरोधी ब्यूरो (वीएसीबी) ने इस संदर्भ में आई शिकायतों पर कानूनी सलाह मांगी है।
Author तिरुवनंतपुरम | October 13, 2016 01:51 am
केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन (Source: PTI)

 

केरल के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के बड़े पदों पर सत्ताधारी माकपा के नेताओं के संबंधियों की नियुक्ति पर पैदा हुए विवाद के बीच सतर्कता व भ्रष्टाचार विरोधी ब्यूरो (वीएसीबी) ने इस संदर्भ में आई शिकायतों पर कानूनी सलाह मांगी है। वीएसीबी के निदेशक जैकब थॉमस ने विपक्षी नेता रमेश चेन्नीथला और भाजपा के नेताओं वी मुरलीधरन और के सुरेंद्रन से मिली शिकायतों के विषय में कानूनी सलाह मांगी है।

यह पूरा विवाद कन्नूर से माकपा के सांसद और वरिष्ठ नेता पीके श्रीमथि के बेटे और उद्योग मंत्री ईपी जयराजन के भतीजे पीके सुधीर नांबियार की नियुक्ति कथित तौर पर अनिवार्य योग्यताएं पूरी करने के बिना ही केरल स्टेट इंडस्ट्रियल एंटरप्राइजेज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के रूप में किए जाने पर सामने आया।  इस नियुक्ति को सरकार ने बाद में निरस्त कर दिया था। हालांकि माकपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं के रिश्तेदारों को अहम पद दिए जाने से जुड़ी खबरें सामने आई हैं।

कांग्रेस और भाजपा ने इस प्रकरण का इस्तेमाल चार माह पुरानी एलडीएफ सरकार को निशाना बनाने के लिए किया है और ऐसी सभी नियुक्तियों को खारिज करने व एक समग्र जांच शुरू किए जाने की मांग की है। राज्य की मौजूदा सरकार का नेतृत्व पिनराई विजयन के हाथ है। सतर्कता विभाग के सूत्रों ने कहा है कि एजंसी खुद को मिलने वाली कानूनी सलाह के आधार पर ही शिकायतों पर की जाने वाली कार्रवाई पर फैसला करेगी।उन्होंने कहा कि थॉमस गुरुवार को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से उनके दफ्तर में मुलाकात कर सकते हैं और इस मुद्दे पर चर्चा कर सकते हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग