ताज़ा खबर
 

वाराणसी की सुमेरु पीठ के शंकराचार्य ने कहा- गोहत्या करने वालों का सिर कलम कर दो

शंकराचार्य ने कहा, "गायों की सुरक्षा करना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। अगर ऐसा नहीं होता है तो आम लोगों को आगे आना चाहिए
जगदगुरु नरेंद्रनंद सरस्वती ने कहा कि जो लोग गाय की हत्या करें उनकी मार डालना चाहिए

वाराणसी की सुमेरु पीठ के शंकराचार्य जगदगुरु नरेंद्रनंद सरस्वती ने शुक्रवार को विवादित बयान देते हुए कहा कि जो लोग गाय की हत्या करें उनकी मार डालना चाहिए। न्यूज चैनल आजतक के मुताबिक, शंकराचार्य ने लोगों से कानून हाथ में लेने की बात कहते हुए कहा कि गोहत्या करने वाले का सिर कलम कर देना चाहिए। शंकराचार्य ने कहा, “गायों की सुरक्षा करना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है और अगर राज्य ऐसा करने में विफल हो रही है तो मैं देश के लोगों से अपील करना चाहता हूं कि वो आगे आएं और उनकी हत्या करें जो गाय को मारते हैं।”

गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के समर्थन में गुजरात की युवा कांग्रेस:

वध के लिए पशु बाजारों में पशुओं की खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के केंद्र के आदेश के बाद शनिवार (3 जून) को गुजरात में कांग्रेस की युवा शाखा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग की। केरल में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सार्वजनिक तौर पर बछड़े को काटे जाने की घटना की गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के निंदा करने और कांग्रेस से इसके लिए माफी मांगने की बात कहने के बाद यह मांग की गई है।

इसी तरह की एक अन्य घटना में राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने एक विवादित बयान दिया है। उनका कहना है कि देश में प्रेमियों का त्योहार वैलेंटाइन डे की वजह से बलात्कार जैसे घटनाएं होती हैं। उनका कहना है कि बच्चों के साथ जो अवैध संबंध बनाए जाते हैं और महिलाओं के प्रति हिंसा केवल वैलेंटाइन डे की वजह से होती है। कुमार ने यह बात शुक्रवार को जयपुर में स्वंयसेवकों को उनकी ट्रेनिंग प्रोग्राम के खत्म होने के अवसर पर कही। भारत में प्यार को पवित्रता का दर्जा दिया गया है लेकिन पश्चिमी देशों की सभ्यता भारतीय लोगों ने अपना ली है। वैलेंटाइन डे भारत में व्यावसाय बन गया है जिसे देश में त्योहार का दर्जा दे दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग