ताज़ा खबर
 

सीएम बनने के बाद पहली बार गोरखपुर पहुंचे योगी आदित्यनाथ बोले- कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए एक लाख रुपए देगी सरकार

योगी आदित्यनाथ ने पिछले सप्ताह यूपी के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है।
योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ पिछले सप्ताह ली थी। ( Photo Source: ANI)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार जाति, मजहब और लिंग के नाम पर किसी तरह का भेदभाव नहीं करेगी। राज्य सरकार सबका विकास करेगी और किसी का तुष्टिकरण नहीं होगा। योगी ने मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर का पहला दौरा किया। उनके सम्मान में आयोजित समारोह में उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश आज केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सरकार की राह पर ‘सबका साथ और सबके विकास’ की राह पर चलेगा। यहां पर किसी के साथ ना जाति, ना मत, ना मजहब और ना लिंग के नाम पर किसी प्रकार का भेदभाव किया जाएगा। विकास सबका होगा लेकिन तुष्टिकरण किसी का नहीं होगा। यही आश्वासन देने के लिए मैं आपके बीच उपस्थित हुआ हूं।’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एक बड़ी योजना के साथ हम कार्य प्रारंभ करने वाले हैं। उत्तर प्रदेश का कोई व्यक्ति चाहे वह किसी तबके या क्षेत्र का हो, कभी भी अपने को उपेक्षित महसूस नहीं करेगा।’ उन्होंने कहा कि सरकार निरंतर कार्य कर रही है। कुछ निर्णय लिये लेकिन हो सकता है कि तमाम लोग तमाम प्रकार की बातें कर रहे हों। ‘सबको बताना चाहता हूं कि भाजपा के लोक कल्याण संकल्प पत्र में जो बातें कही हैं, हम अक्षरश: उनका अनुपालन करेंगे। सरकार उत्तर प्रदेश को देश के विकसित से विकसित प्रदेश के रूप में स्थापित करने में सफल होगी।’

आदित्यनाथ ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने वाले राज्य के तीर्थयात्रियों को एक लाख रूपये अनुदान देने का ऐलान किया। समारोह में कहा, ‘एक और खुशखबरी देना चाहूंगा। जो लोग कैलाश मानसरोवर की यात्रा करना चाहते हैं, उत्तर प्रदेश सरकार ने निर्णय किया है कि अगर वे स्वस्थ हैं तो हम उन्हें एक लाख रूपये का अनुदान देंगे। साथ ही उत्तर प्रदेश में हम लोग लखनऊ गाजियाबाद या नोएडा में किसी एक स्थान पर कैलाश मानसरोवर भवन का निर्माण करेंगे जहां से श्रद्धालु जाकर अपनी यात्रा को आगे बढा सकें।’ सरकारी प्रवक्ता ने लखनऊ में बताया कि राज्य सरकार द्वारा दिये जाने वाला यह आर्थिक अनुदान अभी तक 50 हजार रुपये था, जिसे मुख्यमंत्री ने बढ़ाकर एक लाख रुपए करने का निर्णय लिया है।

योगी ने कहा कि प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त शासन होगा। जनता के प्रति संवेदनशील प्रशासन होगा। गुंडाराज पूरी तरह समाप्त होगा। अराजकता का कोई स्थान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा की बड़ी विजय है लेकिन कहीं भी ‘जोश में होश खोने’ की स्थिति नहीं आनी चाहिए। किसी को कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए। आपके उत्साह में कहीं ऐसा ना हो उन अराजक तत्वों को अवसर मिले जो देश प्रदेश की शांति में खलल डालना चाहते हैं। भाजपा सरकार कानून का राज स्थापित करने के लिए कृतसंकल्प है। युवाओं, नौजवानों, किसानों, मजदूरों, हर तबके के लिए हमारी योजना होगी। विकास के लिए मजबूती से कार्य करेंगे। लोक निर्माण विभाग के कामकाज की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया गया है कि प्रदेश की सभी सडकें 15 जून तक गडढा मुक्त हो जाएं।

उन्होंने कहा, ‘किसानों के बारे में भी योजना बना रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार की एक टीम यह पता करने के लिए छत्तीसगढ भेजी है कि वहां हर व्यक्ति के लिए खाद्य सुरक्षा किस तरह लागू है। वहां का एक एक गरीब किस तरह शासन की योजनाओं से लाभान्वित है। वहां का सिस्टम ले रहे हैं। शत प्रतिशत गेहूं का क्रय करेंगे। समर्थन मूल्य किसान के खाते में डालेंगे। हरित अधिकरण (एनजीटी) ने पिछले दो साल में कई बार कहा है कि प्रदेश में अवैध बूचड़खानों को हटाओ। जो लोग मानक के अनुसार लाइसेंस लिये हैं, लाइसेंस नियमों का पालन कर रहे हैं, सरकार उन्हें नहीं छेडे़गी लेकिन जिन्होंने एनजीटी के आदेशों का उल्लंघन किया है, अवैध रूप से गंदगी फैला रहे हैं और जन-स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, उन्हें हटाया जाएगा।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत मिला था। 403 सीटों में से भाजपा को 312 सीटों पर जीत मिली थी। इसके बाद उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बालिकाओं और माताओं की सुरक्षा के लिए कृतसंकल्प है। प्रशासन से कहा गया है कि ऐसे तत्वों पर कडाई करें जो मनचले और शोहदे किस्म के हैं। एंटी रोमियो स्क्वायड को सक्रिय कर दिया गया है। योगी ने कहा, ‘प्रशासन से स्पष्ट करूंगा कि सहमति से साथ बैठे, बात करते या राह चलते युवक युवती को कतई ना छेड़ा जाए लेकिन अगर भीड़ वाले स्थानों पर या स्कूलों के बाहर कोई इस प्रकार की हरकत करता है, जिससे बालिका की सुरक्षा को खतरा पैदा हो तो ऐसी स्थिति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जहां ऐसा होगा, वहां के अधिकारी उसके प्रति जवाबदेह होंगे। हमें ऐसी व्यवस्था देनी है कि रात्रि को दस या 11 बजे भी अगर कोई बालिका कहीं से आ रही है और अकेले सडक पर चल रही है तो अपने आपको सुरक्षित महसूस कर सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.