ताज़ा खबर
 

वीडियो: वृंदावन में कुछ इस तरह बनकर तैयार होगा दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर

पीएम ने अपने पत्र में लिखा था कि यह विदेशों और देश के पर्यटकों के लिए एक यादगार तीर्थ स्थल बनेगा।
इस मंदिर को 9.5 एकड़ की जमीन पर बनाया जा रहा है। (Photo source: Facebook)

भगवान कृष्ण के बचपन की नगरी वृंदावन में बहुत ही जल्द दुनिया का सबसे लंबा मंदिर बनने जा रहा है। इस मंदिर का नाम चंद्रोदय मंदिर है जिसे इस्कॉन संस्था द्वारा बनवाया जा रहा है। यह मंदिर 700 फुट लंबा होगा। यह पहला ऐसा मंदिर होगा जिसकी लंबाई करीब 17 मंजिल के जितनी होगी। इस मंदिर का निर्माण जैसे ही पूरा होगा यह विश्व का पहला सबसे ऊंचा मंदिर बन जाएगा। इस मंदिर का निर्माण  कार्य लगभग चार सालों में पूरा कर लिया जाएगा। इस मंदिर को 9.5 एकड़ की जमीन पर बनाया जा रहा है। इस मंदिर के अध्यक्ष चंचलामय दास है। इस्कॉन द्वारा बनवाए जा रहे इस मंदिर के चीफ आर्टिटेक्ट रूपेश शर्मा है। रूपेश शर्मा गुड़गांव के रहने वाले है।

चंद्रोदय मंदिर के अध्यक्ष चंचलामय दास को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा मंदिर के निर्माण के लिए पत्र लिखकर काफी सराहना की गई। पीएम ने अपने पत्र में लिखा था कि यह विदेशों और देश के पर्यटकों के लिए एक यादगार तीर्थ स्थल बनेगा। इस मंदिर की सुंदरता और भाव लोगों को अपनी और आकर्षित कर खूब आनंदित करेंगी। पीएम द्वारा सराहना प्राप्त करने के बाद आर्टिटेक्ट रूपेश शर्मा ने कहा कि हमें इस बात की काफी खुशी है कि पीएम ने हमें पत्र लिखकर हमारा सम्मान बढ़ाया।

आपको बता दें कि रूपेश वे आर्टिटेक्ट है जो कि वृंदावन में शिवधाम मंदिर का निर्माण करा चुके है। इसके अलावा रूपेश शर्मा ने अमृतसर में दुर्गियाना मंदिर और श्री राम दरबार का निर्माण कराया था। वहीं अटारी पर मार्च में फहराए गए सबसे ऊंचा तिरंगे को तैयार करने का श्रेय रूपेश शर्मा को ही जाता है। बता दें कि भारत-पाक सीमा अटारी बोर्डर पर विश्व का 360 फीट सबसे ऊंचा तिरंगा फहराया गया था। इस तिरंगे के बारे में कहा जाता है कि इसे अटारी से 24 किमी दूर पाकिस्तान के लाहौर स्थित अनारकली बाजार से लहरता हुआ देख सकते है।

देखिए वीडियो - पटना: इस्कॉन मंदिर के तीन साधुओं पर दिव्यांग बच्चे के यौन शोषण का आरोप, मंत्री के पास पहुंचा मामला फिर भी नहीं दर्ज हुई FIR

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.