December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

वाराणसी: धार्मिक आयोजन में जा रहे श्रद्धालुओं में भगदड़: 24 की मौत, अनेक घायल

वाराणसी के राजघाट में कार्यक्रम के दौरान भगदड़ मचने से 24 लोगों की मौत होने की खबर आ रही है। घटना में 20 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। भगदड़ की वजह अभी तक साफ नहीं हो सकी है।

वाराणसी में जयगुरुदेव के कार्यक्रम में मची भगदड़ (ANI Photo)

उत्तर प्रदेश के चंदौली और वाराणसी जिले की सीमा पर शनिवार (15 अक्टूबर) को बाबा जयगुरुदेव संस्थान के कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे श्रद्धालुओं में मची भगदड़ में कम से कम 24 लोगों की मौत हो गयी तथा बड़ी संख्या में अन्य लोग जख्मी हो गए। पुलिस उपमहानिदेशक (कानून-व्यवस्था) दलजीत चौधरी ने यहां बताया कि चंदौली जिले में गंगा के किनारे डोमरी गांव में बाबा जयगुरुदेव की याद ने आयोजित दो दिवसीय जागरूकता शिविर में आए बड़ी संख्या में श्रद्धालु वाराणसी स्थित पीली कोठी से होते हुए डोमरी गांव जा रहे थे। रास्ते में वाराणसी जिले के रामनगर थाना क्षेत्र स्थित राजघाट पुल पर गर्मी और घुटन के कारण एक व्यक्ति की मौत के बाद अचानक भगदड़ मच गयी।

उन्होंने बताया कि हादसे में अब तक 24 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। इसमें कई महिलाएं भी शामिल हैं। बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। चौधरी ने बताया कि बाबा जयगुरुदेव संस्थान ने जितनी भीड़ का अनुमान लगाकर आयोजन की अनुमति ली थी, उससे कई गुना ज्यादा भीड़ एकत्र हो गयी थी। उन्होंने बताया कि आयोजन स्थल पर रविवार (16 अक्टूबर) को भी कार्यक्रम होगा, इसके मद्देनजर 10 कम्पनी पीएसी तैनात की गयी है। जयगुरुदेव संस्थान ने इस हादसे के लिए जिला प्रशासन की चूक को जिम्मेदार ठहराया है।

वीडियो Speed News: जानिए देश और दुनिया की पांच बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए। साथ ही प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से घटना में मरने वालों के परिजन को दो-दो लाख रुपए और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपए देने को मंजूरी दी। वहीं, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी हादसे पर अफसोस जाहिर करते हुए मरने वालों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपए की सहायता की घोषणा की तथा प्रकरण की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के आदेश दिए हैं।

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘ट्वीट’ करके इस हादसे पर दुख जाहिर किया और सम्बन्धित वरिष्ठ अधिकारियों से बात करके हालात का जायजा लिया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भगदड़ में लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। उन्होंने घटना में घायल हुए लोगों का मुफ्त व समुचित इलाज कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने वाराणसी के मण्डलायुक्त को घटना की मजिस्ट्रेटी जांच करने के भी आदेश दिए हैं।

उधर, जयगुरुदेव संस्थान के मीडिया प्रभारी राज बहादुर ने बताया कि राजघाट पुल पर पदयात्री जा रहे थे। बीच में पुलिस ने भीड़ को वापस भेजना शुरू किया, दूसरी तरफ से भी लोग आ रहे थे। इसी बीच पुल टूटने की अफवाह फैल गयी, जिससे भगदड़ मची। उन्होंने आरोप लगाया कि इस घटना के लिये प्रशासन की चूक जिम्मेदार थी। बहरहाल, लखनऊ से वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। स्थानीय प्रशासनिक अमला पहले से ही मौजूद है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 15, 2016 3:21 pm

सबरंग