ताज़ा खबर
 

बरेली में पुलिस और कांवड़ियों में झड़प, उपद्रवियों ने किया पथराव, वाहनों और दुकानों में तोड़फोड़

देहात क्षेत्र के थाना बिथरी चैनपुर में कमुआ गांव के पास किन्ही शरारती तत्वों ने प्रतिबंधित पशु का मांस कांवड़ियों के रास्ते मे डाल रखा था। यहां से गुजरने पर कांवड़ियों ने हंगामा कर दिया।
Author बरेली | August 9, 2016 06:01 am
(प्रतिकात्मक तस्वीर)

सावन के तीसरे सोमवार (8 अगस्त) को शहर के अलखनाथ मंदिर के पास पुलिस और कांवड़ियों के बीच हुई एक मामूली झड़प के बाद भड़की हिंसा में उपद्रवियों ने पुलिस की एक चीता मोबाइल बाइक को आग के हवाले कर दिया। भीड़ ने पथराव करते हुए पुलिस के वाहनों और आसपास के दुकानों मे भी तोड़फोड़ की है। आइजी विजय सिंह मीना, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आर.के भारद्वाज और एसपी सिटी समीर सौरभ ने शहरी क्षेत्र के आधा दर्जन थानों की पुलिस और पीएसी सहित मौके पर पहुंच कर स्थिति को काबू में किया। बवाल शांत होने के बाद कांवड़यात्रा सामान्य ढंग से चल रही है। घटना के चश्मदीद लोगों के मुताबिक सोमवार को सुबह लगभग 11 बजे एक ‘डाक कांव’ जल चढ़ाने के लिए अलखनाथ मंदिर की ओर जा रही थी। मंदिर के पास एक पुलिस कर्मी ने कांवड़ियों को रोका तो उनसे कहासुनी हो गई। बात बढ़ने पर सिपाही ने एक कांवड़िए को डंडा मार दिया, जिससे वे भड़क कर हंगामा करने लगे। सिपाही की सूचना पर मौके पर पहुंची थाना किला की पुलिस ने कांवड़ियों को तल्ख तेवर दिखाए तो वे पत्थरबाजी करने लगे।

कांवड़ियों की पत्थरबाजी से आसपास की दुकानों को काफी नुकसान हुआ है। दहशत में दुकानदार अपनी दुकानें बंद कर भागने लगे। अफरा-तफरी के इस माहौल मे कांवड़ियों ने पुलिस की चीता मोबाइल की एक बाइक को आग के हवाले कर दिया। पुलिस की जीप पर भी बुरी तरह पथराव करने के बाद इसे भी पलट कर उपद्रवियों ने इसमें आग लगाने का प्रयास किया, लेकिन तब तक शहर के प्रेम नगर, इज्जत नगर, सुभाष नगर, बारादरी और दूसरे थानों की पुलिस के अलावा पीएसी भी मौके पर पहुंच गई। बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी को देख कर भीड़ तितर-बितर हो गई। आइजी विजय सिंह मीना सहित कई अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने समझा-बुझा कर कांवड़ियों को शांत किया। इसके बाद कांवड़िए सामान्य ढंग से अलखनाथ मंदिर पहुंच कर जलाभिषेक कर रहे हैं।

देहात क्षेत्र के थाना बिथरी चैनपुर में कमुआ गांव के पास किन्ही शरारती तत्वों ने प्रतिबंधित पशु का मांस कांवड़ियों के रास्ते मे डाल रखा था। यहां से गुजरने पर कांवड़ियों ने हंगामा कर दिया। गांव के लोग भी बड़ी संख्या मे वहां प्रदर्शन के लिए जमा हो गए। गांव के लोगों के मुताबिक बीती रात उनके गांव से दो बैल चोरी हो गए थे। उनका आरोप है कि पशु तस्कर प्रतिबंधित पशुओं को यही काट कर मांस ले जाते हैं। उन्होंने थाना बिथरी चैनपुर के एक दरोगा पर पशु तस्करों से मिलीभगत के आरोप भी लगाए। यहां ज्यादा हंगामा होने पर थाना फरीदपुर, फतेहगंज पूर्वी की पुलिस और पीएसी सहित वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने मौके पर पहुंच कर किसी तरह बवाल को शांत कराया। थाना सीबीगंज के अटा कासियान गांव मे दूसरे संप्रदाय के लोगों ने कांवड़ियों को जाने से रोका, तो पुलिस ने पहुंच कर कांवड़ यात्रियों को वहां से सुरक्षित निकाला है। यहां टकराव होने के बावजूद किसी तरह की हिंसा होने की सूचना नहीं मिली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग