ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ ने 12.10 बजे किया गृह प्रवेश, रखवाया चमड़े की जगह लकड़ी का सामान, बाबा रामदेव पहले मेहमान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ लखनऊ में गेस्ट हाउस में ठहरे हुए थे।
योगी आदित्यनाथ ने 10 दिन पहले यूपी के सीएम पद की शपथ ली थी। ( Photo Source: PTI)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के 10 दिन बाद सीएम योगी आदित्यनाथ कालिदास मार्ग स्थित अपने सरकारी बंगले पर पहुंच गए हैं। अब योगी आदित्यनाथ 5, कालिदास मार्ग बंगले में रहेंगे। अभी तक योगी आदित्यनाथ सरकारी गेस्ट हाउस में रह रहे थे। आदित्यनाथ ने सरकारी बंगले में बुधवार दोपहर 12.10 बजे प्रवेश किया। राम-कृष्ण मंदिर में पूजा के बाद उन्होंने सरस्वती पूजा की। पूजा के वक्त परिसर में एक गाय भी मौजूद थी। पूजा से पहले आवास में मौजूद चमड़े से बना सोफा और अन्य सामान को हटा दिया गया था और आदित्यनाथ के लिए अलग से लकड़ी का बैड लाया गया है। इसके अलावा जो भी सामान चमड़े का था, उसे बदला गया है।

पूजा के बाद आदित्यनाथ योग गुरु बाबा रामदेव से मुलाकात करेंगे, रामदेव यूपी के मुख्यमंत्री से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात करने वाले पहले मेहमान बनेंगे। दोनों की मुलाकात के बाद बंगले पर ‘फलाहार’ पार्टी होगी। यूपी के राज्यपाल राम नाइक, रामदेव और योगी आदित्यनाथ के कैबिनेट के अन्य सदस्य भी पार्टी में होंगे। यह पार्टी शाम को 6 बजे शुरू होगी। मेहमानों को फल तांबे या पत्तों की पलेट में परोसे जाएंगे। फलाहार की शुरुआत कुल्हड़ में मीठी लस्सी के साथ की जाएगी। मेहमानों को पपिता, सेव, केला, अंगूर और अन्य फल दिए जाएंगे। इसके बाद सबसे आखिर में दूध का ग्लास दिया जाएगा। बाद में रात में मेहमानों को शाकाहारी खाना भी परोसा जाएगा।

योगी आदित्यनाथ के अपने सरकारी बंगले में शिफ्ट होने से पहले घर का शुद्धिकरण कराया गया। इसके लिए विशेष रूप से गोरखपुर स्थित गोरक्षनाथ पीठ के 7 पुरोहितों की एक टीम बुलाई गई थी। इस टीम की अगुआई आचार्य रामानुज त्रिपाठी ने की। घर में विधि-विधान एवं सनातन पद्धति से पूजा-पाठ किया जाएगा। इसके अलावा चल शिव की प्राण पद्धति के साथ शुद्धिकरण किया गया।

जानिए- योगी आदित्य नाथ की निजी जिंदगी से जुड़ी अनसुनी बातें…

सूत्रों के मुताबिक योगी के नए घर में हवन कुंड भी बनाया गया है और साथ ही पूजा के लिए अलग कमरा भी तैयार किया जा रहा है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ पहली बार गोरखपुर वाले मठ को छोड़कर कहीं और रहेंगे। सीएम आवास का शुद्धिकरण कराने की खबर पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आदित्यनाथ पर निशाना साधा था। अखिलेश यादव ने योगी पर निशाना साधते हुए कहा था कि जब हमें साल 2022 में सत्ता में लौटेंगे तो सीएम आवास को गंगा जल से धुलवाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग