ताज़ा खबर
 

गोरखपुर में बोले सीएम योगी आदित्‍य नाथ- एमसीडी चुनावों ने साबित कर दिया कि ईवीएम मतलब ‘एवरी वोट मोदी’

योगी ने कहा क‍ि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में वीआईपी कल्‍चर पर पूर्ण विराम लगा दिया है।'
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (PTI)

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ शनिवार (29 अप्रैल) को अपने संसदीय क्षेत्र गोरखपुर पहुंचे। यहां उन्‍होंने विभिन्‍न कार्यक्रमों में हिस्‍सा लेने के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। योगी ने कहा क‍ि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में वीआईपी कल्‍चर पर पूर्ण विराम लगा दिया है।’ योगी ने अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए कहा कि ‘यूपी में कानून-व्‍यवस्‍था की हालत में आमूलचूल बदलाव आया है जो कि भविष्‍य में भी जारी रहेगा।’ उन्‍होंने कहा, ”हमने पहले भी लोगों से कहा था कि जो कानून की इज्‍जत नहीं करते, वे यूपी छोड़कर जा सकते हैं। और जो नहीं जाएंगे, उनके साथ सख्‍ती से निपटा जाएगा।” एमसीडी चुनावों में भाजपा की शानदार जीत पर उन्‍होंने कहा, ”हालिया एमसीडी चुनावों में दिल्‍ली की जनता ने साबित कर दिया कि ईवीएम का मतलब होता है ‘एवरी वोट मोदी’ (हर वोट मोदी)।”

यूपी के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सीएम की कुर्सी संभालते ही एक्शन मोड में आ गए थे। एक हफ्ते के अंदर योगी ने 50 से ज्यादा प्रशासनिक फैसले लिए थे। इसके साथ ही ब्यूरोक्रेसी (प्रशासन) और पार्टी कार्यकर्ताओं को भी कड़ा संदेश दिया। योगी ने अपने गोरखपुर दौरे के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि अगले दो साल बिना थके काम करना है। जो लोग 18-20 घंटे तक काम कर सकते हैं वे उनसें जुड़ सकते हैं, बाकी बचे लोग जा सकते हैं। मौज-मस्ती के लिए समय नहीं है।

सीएम ने कहा था कि अगले दो महीने में साफ हो जाएगा कि एक राज्य सरकार कैसे काम करती है। कचरा साफ करने का मौका मिला है। अवैध बूचड़खानों को बंद किए जाने, महिलाओं से छेड़छाड़ को रोकने के लिए एंटी रोमियो स्क्वैड, सरकारी कर्मचारियों का ऑफिस पहुंचने के लिए समय निश्चित करने जैसे फैसले को लेकर योगी आदित्यनाथ इन दिनों चर्चा में हैं।

सीएम ने अफसरों को निर्देश जारी किया है कि वह सुबह 9 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक कभी भी लैंडलाइन पर फोन कर सकते हैं। अगर अधिकारी सीएम का फोन नहीं उठा पाते हैं तो उन्हें यह साबित करना होगा कि वह फोन क्यों नहीं उठा पाए। अगर फील्ड में थे तो बताना होगा कि कहां और किसलिए गए थे। अगर साबित नहीं कर पाते हैं तो कार्रवाई की जा सकती है।

संबंधित वीडियो देखें:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग