ताज़ा खबर
 

योगी आदित्‍यनाथ अयोध्‍या: बाबरी मस्जिद विध्‍वंस के आरोपी विनय कटियार के साथ स्‍टेज पर दिखे सीएम, पढ़ें क्‍या कहा

Yogi Adityanath in Ayodhya: मंच पर योगी के अलावा, बाबरी मस्जिद विध्‍वंस के आरोपी विनय कटियार भी दिखे।
अयोध्या में सरयू किनारे आरती करते यूपी के सीएम योगी आदित्‍यना‍थ। (Photo Source: PTI)

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ बुधवार (31 मई) को अयोध्‍या पहुंचे। यहां उन्‍होंने पहले सरयू आरती की, उसके बाद एक कार्यक्रम को संबोधित किया। मंच पर योगी के अलावा, बाबरी मस्जिद विध्‍वंस के आरोपी विनय कटियार भी दिखे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अयोध्या के लिए 350 करोड़ रुपए की योजानाओं की घोषणा की। पिछली सरकार पर अयोध्या पर ध्यान नहीं देने का आरोप भी उन्होंने लगाया। वहीं राम जन्मभूमि का जिक्र करते हुए इस बार उनके तेवर थोड़े नरम दिखे। मंदिर पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि के विवाद का बातचीत के माध्यम से दोनों पक्ष समाधान का मार्ग निकाल सकते हैं तो सरकार आपके साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि अयोध्या से श्रीराम का नाम जुड़ा है। धर्म का मकसद लोक कल्याण है। धर्म को संकीर्ण दायरे में नहीं रख सकते। जानकारी के लिए बता दें साल 2002 के बाद पहला मौका है जब मुख्यमंत्री रामलला के दर्शन करने के लिए अयोध्या पहुंचे हैं। उन्होंने राम नवमी पर 24 घंटे बिजली देने की घोषणा की और कहा कि अब बिजली देने में कोई भेदभाव नहीं होगा। सबसे समान रूप से बिजली मिलेगी।

इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार के तीन साल कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार काम कर रही है। सरकार सबका विकास सबका साथ एजेंडे के तहत काम कर रही है। उन्होंने आगे कहा, ‘पूरे अयोध्या को एलईडी स्ट्रीट लाइटें देंगे। पर्यटन को बढ़ाया दिया जाएगा और अयोध्या में साफ सफाई का काम किया जाएगा। विंध्यवासिनी धाम, मधुरा, प्रयागराज और नैमिषारण्य सहित धार्मिक महत्व के सभी क्षेत्रों के विकास के लिए योजनाएं बनाकर उन पर अमल किया जाएगा।’ भाषण के दौरान मुख्यमंत्री आदित्य नाथ ने कहा कि लखनऊ के कुछ मुस्लिम संगठनों ने राम जन्मभूमि को हिंदुओं को सौंपने की वकालत की है। मगर कुछ लोग ये चाहते ही नहीं कि हम सब मिलकर रहें। अगर हम मिलकर रहेंगे तो दुश्मनों को फूट डालने का मौका नहीं मिलेगा। उन्होंने आगे कहा कि कुछ लोग देश का विकास नहीं चाहते और इसीलिए वो एकता की राह में बाधा डालने का करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.