ताज़ा खबर
 

यूपी: दो हिस्‍सों में बंट गई स्‍वर्ण शताब्‍दी एक्‍सप्रेस, बड़ा हादसा टला

गड़बड़ी को समझकर ट्रेन चालक ने ट्रेन को रोक दिया। ट्रेन के साथ चल रहे तकनीशियन ने गड़बड़ी को ठीक किया और 50 मिनट बाद ट्रेन आगे के गंतव्य के लिए रवाना हुई।
Author August 2, 2017 21:17 pm
शताब्दी एक्सप्रेस के दो हिस्सों में बंट जाने की खबर से रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया। (Photo: Twitter)

उत्तर प्रदेश में बुधवार को दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पर उस समय एक बड़ा हादसा टल गया जब लखनऊ जा रही स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के सतर्क चालक ने डिब्बों को जोड़ने वाली कंपलिंग टूट जाने पर समय रहते आपातकालीन ब्रेक लगा दिए। यह घटना खुर्जा जंक्शन रेलवे स्टेशन के पास तब हुई जब पांचवें अ‍ैर छठे डिब्बे की कंपलिंग टूट गई जिससे ट्रेन को अनेक झटके लगे। गड़बड़ी को समझकर ट्रेन चालक ने ट्रेन को रोक दिया। ट्रेन के साथ चल रहे तकनीशियन ने गड़बड़ी को ठीक किया और 50 मिनट बाद ट्रेन आगे के गंतव्य के लिए रवाना हुई। स्टेशन अधीक्षक पी.के. गुप्ता ने बताया कि कालका मेल सहित कई ट्रेन खुर्जा जंक्शन पर फंस गईं और उन्हें रेल यातायात सुचारू होने का इंतजार करना पड़ा। उन्होंने बताया कि घटना में किसी भी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

रेलगाड़ी संख्या 12004 स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस बुधवार सुबह दिल्ली से लखनऊ के लिए चली थी। सुबह साढ़े सात बजे के करीब खुर्जा जंक्शन स्टेशन से करीब पांच किलोमीटर आगे पहुंचने पर कमालपुर स्टेशन के पास कपलिंग टूटने से ट्रेन ज़ोरदार झटके के साथ दो हिस्सों में बंट गई। कपलिंग टूटने से छह डिब्बे ट्रेन से अलग हो गए। झटका लगने से डिब्बों में सवार यात्रियों में अफरातफरी मच गई। ट्रेन चालक ने सतकर्ता दिखाते हुए तत्काल ट्रेन रोक दी।

शताब्दी एक्सप्रेस के दो हिस्सों में बंट जाने की खबर से रेल प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसके बाद ट्रेन में मौजूद तकनीकी टीम ने कपलिंग की मरम्मत कर ट्रेन को जोड़कर लखनऊ के लिए रवाना किया। मरम्मत के दौरान ट्रेन लगभग आधे घंटे तक खड़ी रही। जिस वजह से रेल यातायात प्रभावित रहा। महानंदा-कालका मेल समेत कई रेलगाड़ियों को जंक्शन पर ही रोक दिया गया। बताया जा रहा है कि ट्रेन की गति ज्यादा नहीं थी। वरना डिब्बे पटरी से नीचे उतर सकते थे। जिससे बड़ा हादसा हो सकता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.