ताज़ा खबर
 

यूपी: महीनों तक दो सगी बहनों को प्रताड़ित किया, बाद में पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सरकार के सौ दिन पूरे होने के बाद भी यहां अपराधी बेखौफ हैं।
युवतियां शुक्रवार राम घर में सो रहीं थी जिस वक्त उन्हें जलाने की कोशिश की गई। (फोटो सोर्स एएनआई)

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सरकार के सौ दिन पूरे होने के बाद भी यहां अपराधी बेखौफ हैं। सूबे के बरेली में अपराधियों ने एक खौफनाक वारदात को अंजाम देते हुए यहां सगी बहनों को घर में ही जिंदा जलाने की कोशिश की है। खबर के अनुसार घटना बीते शुक्रवार (11 अगस्त, 2017) की है। घटना में बड़ी बहन (19) 95 फीसदी तक जल चुकी है जबकि छोटी बहन (17) के 60 फीसदी तक जलने की खबर है। घटना के वक्त दोनों बहनें मच्छरदानी में सो रही थीं। वहीं कक्षा 9 में पढ़ने वाली बड़ी बहन के अनुसार आरोपी ने उनके ऊपर प्रेट्रोल डालाकर आग लगा दी। लेकिन वो किसी भी अपराधी का चेहरा नहीं देख पाई। वहीं दोनों बेटियों की चिल्लाने की आवाज सुनकर पास में सो रहे परिजन तुरंत आए लेकिन तब तक दोनों बहने में बहुत बुरी तरह जल चुकी थीं। जिसपर दोनों बहनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां बड़ी बहन की हालत बहुत नाजुक बताई जाती है।

वहीं पीड़ित युवतियों के परिजन ने बताया कि उनकी इलाके में किसी से भी दुश्मनी या किसी से विवाद नहीं है। किसी ने सोची समझी साजिश के तहत उनकी बच्चियों पर हमला किया है। दूसरी तरफ एक समाचार पत्र से बातचीत में छोटी बहन ने बताया कि उन्हें स्थानीय युवाओं द्वारा महीनों से प्रताड़ित किया जा रहा है। वो घर से लेकर स्कूल तक उनके साथ छेड़छाड़ करते थे। हमनें इसके बारे में शिकायत भी दर्ज कराई लेकिन वो लगातार हमें प्रताड़ित कर रहे थे। दूसरी तरफ मामले में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जोगेंद्र कुमार ने कहा, ‘हम पूरे मामले की बारीकी से जांच कर रहे हैं। पुलिस की कुछ टीमें अपराधियों को पकड़ने के लिए लगातार दबिश कर रही हैं। घटना स्थल से एक पेट्रोल की बोतल और दो मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं।’ दूसरी तरफ पुलिस ने अपराधियों के खिालफ आईपीसी की धारा 326-A, 336, 307, 452 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग