ताज़ा खबर
 

गाजीपुर में संघ से जुड़े पत्रकार की हत्या

आस पास के लोगों इस संवाददाता को बताया कि राजेश मिश्रा वाराणसी से छपने वाले प्रमुख हिंदी दैनिक समाचार पत्र के क्षेत्रीय संवाददाता थे। इधर कुछ दिनों से वे क्षेत्र में खनन माफिया द्वारा बड़े पैमाने पर बालू के अवैध खनन की खबरें छाप रहे थे।
Author गाजीपुर | October 22, 2017 00:27 am
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

जिले के करंडा थाना क्षेत्र के एक पत्रकार व राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ के खंड कार्यवाह राजेश मिश्रा (40) की शनिवार सुबह साढ़े सात बजे उनके गांव ब्राह्मणपुरा की चट्टी पर गोली मारकर हत्या कर दी गई। मिश्र के छोटे भाई नितेश मिश्रा ने ललकारा तो हमलावरों ने उन्हें भी पेट में गोली मारकर घायल कर दिया। उनको बेहतर इलाज के लिए वाराणसी ले जाया गया है। वाराणसी जोन के आइजी और एसपी ने घटनास्थल का दौरा कर हत्यारों की गिरफ्तारी का आदेश दिया। राजेश मिश्रा का शनिवार दोपहर बाद कड़ी सुरक्षा के बीच श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय गाजीपुर आ रहे हैं।  आस पास के लोगों इस संवाददाता को बताया कि राजेश मिश्रा वाराणसी से छपने वाले प्रमुख हिंदी दैनिक समाचार पत्र के क्षेत्रीय संवाददाता थे। इधर कुछ दिनों से वे क्षेत्र में खनन माफिया द्वारा बड़े पैमाने पर बालू के अवैध खनन की खबरें छाप रहे थे। इस कारण वह खनन माफिया की नजर में चढ़े हुए थे। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि उनकी निडरता के कारण खनन माफिया परेशान थे। लोगों ने बताया कि मिश्रा की कुछ लोगों से राजनीतिक शत्रुता भी थी। मिश्रा 1995 में विद्यार्थी परिषद से जुड़े और पिछले बीस साल से भाजपा के बूथ अध्यक्ष थे। वे ब्राह्मणपूरा में ही बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान चलाते थे।

करंडा थाना क्षेत्र के ब्राह्मणपूरा निवासी राजेश मिश्रा अपने भाई नितेश मिश्रा के साथ शनिवार सुबह चट्टी पर अपनी दुकान पर बैठकर बातचीत कर रहे थे कि इसी बीच मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने राजेश मिश्रा पर गोलीबारी शुरू कर दी। गोली लगने के बाद राजेश गिर पड़े। उनके छोटे भाई ने हत्यारों को ललकारा तो बदमाशों ने उन पर भी गोली चला दी जो उनके पेट में लगी। गांव वालों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने राजेश मिश्रा को मृत घोषित कर दिया। नितेश मिश्रा को इलाज के लिए वाराणसी भेजा गया है।पुलिस उपाधीक्षक हृदयानंद सिंह ने इस संवाददाता को बताया कि मिश्रा का दाह संस्कार करा दिया गया है। उनके परिवार वालों की ओर से अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है। शिकायत मिलती है और अगर उसमें किसी को आरोपी नामजद किया जाता है तो उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वाराणसी जोन के आइजी दीपक रतन ने गाजीपुर के एसपी सोमेन वर्मा को हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी का आदेश दिया है। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने टीमें गठित की हैं और वे खुद मामले की निगरानी कर रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.