ताज़ा खबर
 

काजी ने मदरसों से कहा- स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराएं लेकिन राष्ट्रगान ना गाएं

उत्तर प्रदेश में बरेली के काजी ने शहर के मदरसों को लेकर नया बयान जारी किया है।
उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के सभी मदरसों में तिरंगा फहराने और राष्ट्रगान गाए जाने को लेकर सर्कुलर जारी किया गया है। (फोटो सोर्स एएनआई)

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के सभी मदरसों में तिरंगा फहराने और राष्ट्रगान गाए जाने को लेकर सर्कुलर जारी किया गया है। हालांकि सर्कुलर पर लगातार विवाद जारी है। कई मुस्लिम धर्मगुरुओं ने इसके विरोध में बयान दिए तो कुछ ने इसके पक्ष में बयान दिए। ऐसे में अब उत्तर प्रदेश में बरेली के काजी ने शहर के मदरसों को लेकर नया बयान जारी किया है। एनएनआई की खबर के अनुसार काजी ने कहा है कि वो स्वतंत्रता दिवस का जश्न तो मनाएं लेकिन राष्ट्रगान गाए बगैर। ये बात मुस्लिम धर्मगुरु असजद आर खान ने कही है। वहीं रजा-ए-जमात के प्रवक्ता नासिर कुरैशी ने कहा कि हम निश्चित तौर आजादी का जश्न मनाएंगे लेकिन मदरसों में राष्ट्रगान नहीं गाएंगे। इसके लिए एक पत्र भी जारी किया गया है। गौरतलब है कि यूपी मदरसा बोर्ड परिषद ने एक सर्कुलर जारी किया है जिसमें कहा गया कि स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले मदरसों के कार्यक्रमों की वीडियो और फोटो भी ली जाएं। सर्कुलर में स्वतंत्रता दिवस पर सुबह 8 बजे तिरंगा फहराए जाने और राष्ट्रगान गाने के निर्देश दिए गए हैं।

जिसमें मदरसा छात्रों को राष्ट्रवादी गीत और 15 अगस्त के इतिहास पर विचार के निर्देश दिए गए है। इससे पहले देश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में स्थित सभी मदरसों में आगामी स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराकर राष्ट्रगान गाने और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। साथी ही आदेश का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई के लिए चेताया है। चौधरी ने बताया कि देश के तमाम नागरिक होली, दीपावली, ईद और लोहड़ी के त्यौहार मनाते हैं। वहीं स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर पूरा देश जश्न मनाता है। मदरसों को इससे अलग नहीं किया जाना चाहिए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Aug 14, 2017 at 7:28 am
    बन्दूक की नली द्वारा देशप्रेम किसी के ह्रदय में धूसा नहीं जा सकता. सरकार को आदेश तुरंत वापस लेना चाहिए. यह मुसलमानों को अपमानित करने का आदेश है.इसका घोर विरोध होना चाहिए.
    Reply
  2. M
    mp
    Aug 13, 2017 at 4:00 pm
    ऐसे काजी का सामाजिक बहिस्कार करो व सरकारी योजना से इनको वोटर लिस्ट राशन कार्ड ,आधार कार्ड से बहार करो
    Reply
सबरंग