ताज़ा खबर
 

योगी आदित्य नाथ को आतंकवादी संगठन का सरगना बताए जाने पर भड़के भाजपाई, जलाईं न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की नकली प्रतियां

भाजपाइयों ने आरोप लगाया कि विदेशी मीडिया जानबूझकर हमारे नेता की छवि धूमिल कर रही है।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

अमेरिका के मशहूर अखबार द न्यूयॉर्क टाइम्स द्वारा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आतंकी संगठन का सरगना कहे जाने पर उनके समर्थकों में रोष है। शुक्रवार (14 जुलाई) को यूपी के ताजगनरी आगरा में भाजपा से जुड़े लोगों ने न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर पढ़कर हंगामा किया और अखबार की नकली प्रतियों को आग के हवाले कर दिया। इस मौके पर हिन्दुस्तानी बिरादरी समूह के लोगों ने इंडिया टुडे से कहा कि जब योगी आदित्य नाथ सबका साथ, सबका विकास के एजेंडे पर काम कर रहे हैं तो ऐसे में कुछ लोगों को उनके काम पर परेशानी हो रही है। समूह के लोगों ने कहा कि योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एजेंडे को यूपी में आगे बढ़ा रहे हैं। इन लोगों ने आरोप लगाया कि विदेशी मीडिया जानबूझकर हमारे नेता की छवि धूमिल कर रही है।

इंडिया टुडे से समूह के सचिव जियाउद्दीन ने कहा कि जब से योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने हैं, तब से अब तक उनकी छवि में अप्रत्याशित बदलाव हुए हैं। बतौर जियाउद्दीन न्यूयॉर्क टाइम्स में जो कुछ भी छपा है, वह पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की इमेज खराब करने के इरादे से लिखी गई है और यह मोदी विरोधी एजेंडे का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि कई वेस्टर्न एलीट अभी तक यह नहीं पचा पा रहे हैं कि एक पुजारी देश के सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य का मुख्यमंत्री कैसे बन गया और एक चाय बेचने वाला शख्स देश का प्रधानमंत्री।

बता दें कि न्यूयॉर्क टाइम्स की वेबसाइट पर 12 जुलाई को “हिन्दुस्तान में एक फायरब्रांड हिन्दू पुजारी राजनीतिक सीढ़ियां चढ़ता” शीर्षक से लिखे आलेख में कहा गया था कि योगी आदित्यनाथ को अधिकांश लोग योगी कहकर ही पुकारते हैं। अखबार ने लिखा कि योगी एयर कंडीशनर यूज नहीं करते हैं और जमीन पर सोते हैं। वो कई बार रात में सिर्फ एक सेव खाकर रहते हैं।

अखबार ने लिखा है, “योगी की पहचान एक ऐसे मंदिर के पुजारी के रुप में है जो अपने आतंकवादी हिंदू सर्वोच्च जातिवादी परंपरा के लिए कुख्यात है। उन्होंने मुसलमान शासकों द्वारा ऐतिहासिक गलतियों का बदला लेने के लिए युवाओं की एक सेना (हिन्दू युवा वाहिनी) बनाई है, जिसका मकसद दो पैर वाले जानवरों (मुस्लिमों) की फसल को रोकना है। अखबार ने लिखा है कि एक चुनावी रैली में उन्होंने चिल्लाकर कहा था, “हम सभी धार्मिक युद्ध की तैयारी कर रहे हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    kk
    Jul 15, 2017 at 8:55 am
    अमेरिका तो ताऊ है आरएसएस का. वहां के पेपर जलने से क्या होगा. मोदी तो दौड़ के वही जायेंगे! विदेश, आर्थिक नीति वहीँ से तय होगा. हमारे श्रम कानून, जमीं अधिग्रहण कानून, ऍफ़डीआई और निवेश नीति वहीँ से तो तय होगा. जाओ माथा टेको. फिर से लिखाओ.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग