ताज़ा खबर
 

पार्किंगकर्मी ने दंपति को कुचला, गर्भवती की मौत

किशोर दो दिन पहले ही काम पर आया था। उसे कार चलानी नहीं आती थी। अपने दोस्त के बताने पर वह स्टेयरिंग, ब्रेक और गियर आदि बदल रहा था। जल्दबाजी करने पर अभिषेक ने हड़बड़ा कर बे्रक के बजाय गति बढ़ाने का पैडल दबा दिया।
Author नोएडा | November 14, 2017 03:20 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

शहर के वाणिज्यिक सेक्टर-18 में रविवार देर रात पार्किंग के कर्मचारी ने कार से दंपति को कुचल दिया। दंपत्ति भी पार्किंग में खड़ी अपनी कार निकालने के लिए वहां पहुंचे थे। कार के नीचे आने से 28 साल की महिला की मौत हो गई। वह सात महीने की गर्भवती थी। एक निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने अधिक खून बहने को महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत का कारण बताया है। आरोप है कि दंपति को कुचलने वाला युवक पहली बार कार चला रहा था। उसने हड़बड़ा कर ब्रेक के बजाय एक्सलेरेटर दबा दिया। दंपति के अलावा दो अन्य कारों को टक्कर मारने के बाद कार बिजली के खंभे से टकराकर रुक गई। पहले आरोपी को नाबालिग बताया जा रहा था, लेकिन मेडिकल जांच में वह बालिग निकला, जिसके बाद पुलिस ने उसे जेल भेज दिया।

मूल रूप से बरेली के रहने वाले प्रतीक सिंघल अपनी पत्नी मानसी के साथ सेक्टर-75 की जेएस अरोमा सोसायटी में रहते हैं। दोनों की चार साल पहले शादी हुई थी। मानसी सात महीने की गर्भवती थी। रविवार शाम दोनों सेक्टर-18 में फिल्म देखने आए थे। फिल्म देखने के बाद एक केक की दुकान से सामान खरीदकर दोनों पुलिस चौकी के पीछे बनी पार्किंग में खड़ी अपनी कार लेने जा रहे थे। रात करीब 9 बजे पार्किंग में काम करने वाले अभिषेक से उसका सहकर्मी होंडा सिटी कार निकलवा रहा था। किशोर दो दिन पहले ही काम पर आया था। उसे कार चलानी नहीं आती थी। अपने दोस्त के बताने पर वह स्टेयरिंग, ब्रेक और गियर आदि बदल रहा था। जल्दबाजी करने पर अभिषेक ने हड़बड़ा कर बे्रक के बजाय गति बढ़ाने का पैडल दबा दिया, जिससे तेज रफ्तार कार दंपति को रौंदते हुए आगे निकल गई। कार का एक टायर मानसी के ऊपर से निकला। लोगों ने मानसी और उसके पति को तुरंत सेक्टर-27 के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। खून ज्यादा बहने से डॉक्टरों ने मानसी को मृत घोषित कर दिया। प्रतीक को भी चोट आई है। मानसी के शव को लेकर परिजन बरेली चले गए हैं। हादसे के बाद चिर-परिचित शैली के मुताबिक, नोएडा प्राधिकरण ने पार्किंग ठेकेदार से स्पष्टीकरण मांगा है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.