ताज़ा खबर
 

तीन दिनों से पत्नी खड़ी थी कतार में, इलाज बिना पति की मौत

जारचा थाने के खटाना गांव में बैंक से इलाज के लिए रुपए न मिलने की वजह से दलित खड़क सिंह की मौत हो गई।
Author ग्रेटर नोएडा | November 21, 2016 04:44 am
बैंक के सामने मौजूद भीड़।

ग्रेटर नोए़डा के जारचा थाने के खटाना गांव में बैंक से इलाज के लिए रुपए न मिलने की वजह से दलित खड़क सिंह की मौत हो गई। मृतक की पत्नी रूपवती पिछले तीन दिनों से बैंक से रुपए निकालने के लिए लाइन में लगी थी। लेकिन बैंक में उसका नंबर नहीं आ पाया। जिस वजह से अस्पताल में खड़क सिंह का इलाज नहीं हो पाया और गाजियाबाद ले जाते समय रास्ते में उनकी सांसो ने उनका साथ छोड़ दिया।

गौरतलब है कि खटाना धीरखेड़ा गांव के दलित खड़क सिंह चार दिन पहले बीमार हुए थे। दूसरे दिन उनकी पत्नी रूपवती जो खुद बीमार थी पति के इलाज के लिए बैंक से रुपए निकालने के लिए लाइन में लग गई। पहले दिन उसका नंबर नहीं आया और शाम को बैंक बंद हो गया। दूसरे दिन फिर से खटाना के सर्व यूपी ग्रामीण बैंक में गई लेकिन उस दिन बैंक में धनराशि नहीं आई। इसके बाद वो तीसरे दिन फिर बैंक गई। लेकिन तीसरे दिन बैंक में राशि नहीं आई।

किसी तरह कुछ धन का इंतजाम कर खड़क सिंह को दादरी अस्पताल ले जाया गया। उस अस्पताल से उसे गाजियाबाद भेज दिया गया। जब उसे गाजियाबाद ले जा रहे थे तो उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। खड़क सिंह की मौत को लेकर गांव के लोगों में खासी नाराजगी है। मृतक की पत्नी रूपवती का कहना है कि मैंने बैंक के मैनेजर से भी काफी मिन्नतें की पर किसी के कान पर जूं तक नहीं रेंगी।

 

 

₹ 2000 और 500 के नए नोट में चलता है PM मोदी का भाषण !

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.