ताज़ा खबर
 

बीमा पर बोनस दिलाने के नाम पर ठगे गए 500 से ज्यादा लोग

आरोपियों ने बोनस दिलाने के नाम पर कई पुरानी पॉलिसी बंद करा दी। और फिर अलग-अलग कंपनियों में नई पॉलिसियां खोल दी।
Author नोएडा | September 6, 2017 03:57 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

नोएडा सेक्टर-3 स्थित ब्रोकर कंपनी में एसटीएफ की छापेमारी और दो अरोपियों की गिरफ्तारी के बाद कई सनसनीखेज जानकारियां मिली हैं। आरोपियों ने बोनस दिलाने के नाम पर कई पुरानी पॉलिसी बंद करा दी। और फिर अलग-अलग कंपनियों में नई पॉलिसियां खोल दी। इसके बाद माइक्रो कोड, रिलीजिंग कोड और ट्रांजेक्शन कोड के नाम पर रकम ले ली। हालांकि इस पूरे गोरखधंधे की सरगना रितु अभी फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए कई टीमें दबिश दे रही हैं। बताया गया है कि इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर 500 से ज्यादा लोगों से ठगी की जा चुकी है।

एसटीएफ नोएडा ने सोमवार को इंश्योरेंस पॉलिसी पर बोनस दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले दो आरोपी राजीव और राहुल को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में मिली जानकारी और दस्तावेजों को खंगालने के बाद बता चला कि फर्जी ब्रोकर कंपनी व कॉल सेंटर के माध्यम से गिरोह संचालित कर 500 से ज्यादा लोगों को ठगा जा चुका है। वहीं, दिल्ली-एनसीआर में ऐसी 30 से ज्यादा फर्जी ब्रोकर कंपनियां और कॉल सेंटर संचालित हैं। एसटीएफ ने इन फर्जी कंपनियों की सूची तैयार की है। गिरफ्तार हुए दोनों आरोपी सेक्टर-3 में ब्रोकर कंपनी चला रहे थे।

आरोपियों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिंदी विभाग की सेवानिवृत्त विभागाध्यक्ष डॉ शैल कुमार पांडे से लाखों रुपए की ठगी की थी, जिसको लेकर इलाहाबाद के जॉर्ज टाउन थाने में मामला दर्ज कराया गया था। जांच में पता चला कि आरोपी इंश्योरेंस कंपनियों से जानकारी इकट्ठा कर लोगों को अपने जाल में फंसाते थे। इन्होंने महिला प्रोफेसर को सिंगल प्रीमियम बताकर टर्म इंश्योरेस दे दिया था। एसपी एसटीएफ त्रिवेणी सिंह ने बताया कि पूरे नेटवर्क की सरगना रितु कपूर है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग